कोविड-19 ने हमारे जीवन दर्शन को बदल दिया - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

कोविड-19 ने हमारे जीवन दर्शन को बदल दिया

Share This
अमित कुमार यादव 

मिथिला हिन्दी न्यूज :- शाहपुर पटोरी अनुमंडल क्षेत्र के जी एम आर डी कॉलेज, मोहनपुर के जूलोजी विभाग के तत्वावधान में शनिवार को 'सोशियो बायलोजिकल इम्पेक्ट ऑफ कोविड-19 ऑन द इनभारमेंट' विषय पर नेशनल वेबीनार आयोजित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रधानाचार्य डॉ घनश्याम राय ने करते हुए सभी अतिथियों, प्रतिनिधियों, कॉलेज कर्मियों, छात्र, छात्राओं का स्वागत किया और कहा कि लॉकडाउन के दौरान महाविद्यालय के द्वारा लगातार ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। जूलोजी बेवीनार हेतु तीन सौ से ज्यादा प्रतिनिधियों ने पंजीकृत कराया। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि लाॅकडाउन के दौरान आॅनलाइन माध्यम से लोगों को ज्यादा से ज्यादा फायदा पहुंचाया जाए और कोविड महामारी के कारण उत्पन्न भय के वातावरण को कम किया जाए। जूलोजी विभाग की गेस्ट फेकल्टी और वेबीनार की सहायक समन्वयक डाॅ प्रयुत्मा ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए तमाम अतिथियों एवं श्रौतविद्वों का परिचय कराया। पटना विश्वविद्यालय जूलोजी विभाग के सेवानिवृत्त विभागाध्यक्ष प्रोफेसर पशुपति नाथ, प्रोफेसर परिमल कुमार खान एवं सहायक प्राचार्य डाॅ गजेन्द्र कुमार,केंद्रीय विश्वविद्यालय, नागालैंड के सहायक प्राध्यापक डॉ प्रणय पुंज पंकज, दीनदयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय,गोरखपूर जूलोजी विभाग की प्राध्यापक प्रोफेसर बीना बी कुशवाहा,तिलकामांझी विश्वविद्यालय भागलपुर विश्वविद्यालय, भागलपुर के जूलोजी विभागाध्यक्ष प्रोफेसर अशोक ठाकुर एवं प्राध्यापक प्रोफेसर डी एन चौधरी आदि ने संबोधित किया। वक्ताओं का कहना था कि कोविड-19 महामारी ने हमारे जीने के ढ़ग को बदल दिया है। दुनिया के देशों को हम जेनेरिक दवाओं का निर्यात भी करते हैं। जहाँ विकसित देशों की स्वास्थय व्यवस्थाा धाराशाही हो गई है वहीं हम सीमित साधनों के बावजूद सामुदायिक संक्रमण के खतरे को रोकने में सफल हो रहे हैं। वातावरण स्वच्छ हो गया है। गंगा का पानी प्रदूषण मुक्त हो गया है। प्रवासी पक्षियों का आगमन पूर्व हीं हो गया है।

No comments:

Post a comment

live

Post Bottom Ad

अगर आप विज्ञापन देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages