प्रधानाध्यापक गिरिश राम की सड़क हादसे में हुई दर्दनाक मौत - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

प्रधानाध्यापक गिरिश राम की सड़क हादसे में हुई दर्दनाक मौत

Share This
 
तुफैल अहमद (दलसिंहसराय/समस्तीपुर)
मिथिला हिन्दी न्यूज़ (दलसिंहसराय/समस्तीपुर) - समस्तीपुर जिले के दलसिंहसराय प्रखंड अंतर्गत केवटा पंचायत के उत्क्रमित मध्य विद्यालय यमुनाटॉड़ के प्रधानाध्यापक श्री गिरीश राम जी की सड़क हादसे में दर्दनाक मौत कल दिनांक 3.7.2020 को हो गई। वे परसों अर्थात 2.7.2020 को अपने घर पगड़ा पंचायत अंतर्गत शाहपुर पगड़ा वार्ड नं0 1 से प्रातः 9:00 बजे अपने विद्यालय जा रहे थे। विद्यालय जाने के क्रम में बेगूसराय जिले के बछवारा प्रखंड के रसीदपुर गांव में एनएच 28 को क्रॉस करने के दरमियान तेज रफ्तार से बिल्कुल लापरवाही से आ रहे एक मोटरसाइकिल BR09 8818 सवार ने तेजी से ठोकर मार दिया जिससे वह बुरी तरह घायल हो गये। आनन-फानन में ग्रामीणों के सहयोग से उन्हें उठाकर दलसिंहसराय के डॉक्टर प्रेम कुमार के यहाँ इलाज हेतु लाया गया। डॉ0 प्रेम कुमार ने उन्हें रेफर करते हुए बेगूसराय जाने को कहा। बेगूसराय के डॉक्टरों ने भी बेहतर इलाज हेतु पटना जाने को कहा परंतु वहां के डॉक्टरों ने भी जवाब दे दिया। हमलोगो ने आज एक बहुत ही लोकप्रिय योग्य अनुभवी परम विद्वान को खो दिया है। इस घटना की खबर जैसे ही क्षेत्र के लोगों को मिली हजारों की तादाद में स्थानीय लोग व उनके करीबी उनके आवास पर उनका हाल जानने पहुँच गए। ईश्वर को शायद कुछ और ही मंजूर था। कागज़ी प्रक्रिया पुरी होने के बाद आज 04.07.2020 को सुबह 10:30 बजे उनका शव उनके आवास पर लाया गया। शव के पहुँचते ही हजारों लोगों की भीड़ उनके अंतिम दर्शन को इकट्ठा हो गई। उनके आकस्मिक मौत से हर कोई मर्माहत है। उनकी खूबियों के बारे में जितना भी कहा या लिखा जाय वह बिल्कुल ही थोड़ा है। वे गंगा यमुनी तहज़ीब के मिसाल थे। क्षेत्र में जब भी कोई सामाजिक, धार्मिक, सांस्कृतिक,वैवाहिक कार्यक्रम होता था उसमें उनका बहुत महत्वपूर्ण योगदान हुआ करता था। हर त्योहार के मौके पर हर समुदाय के लोगों के साथ मिलजुल कर खुशियाँ बाँटना उनकी आदतों में शामिल था। वे एक बहुत बड़े विद्वान, समाजसेवी के साथ साथ अपने समय के बहुत ही अच्छे क्रिकेटर के साथ साथ कॉमेंटेटर भी थे। उनके जीवनकाल में क्षेत्र में जब भी क्रिकेट का मैच हुआ करता था लोग उन्हें आमंत्रित किया करते थे, वे अपनी व्यस्तता के बावजूद भी अपना कीमती समय निकालकर शिरकत किया करते थे। उनकी क्रिकेट मैच में की गई कॉमेंट्री लोगों के दिलों दिमाग से कभी भी निकल नहीं सकती है।मेरे साथ उनका बहुत ही करीबी परिवारिक संबंध था। उनके आकस्मिक मौत से पूरे क्षेत्र के लोग सदमे में डूबे हुए हैं।

No comments:

Post a comment

live

Post Bottom Ad

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages