संतोष बिस्फोर ने जदयू पर लगाया डोम जाति के उपेक्षा का आरोप दरौली(सु) विधानसभा क्षेत्र से लड़ेगे निर्दलीय चुनाव - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

संतोष बिस्फोर ने जदयू पर लगाया डोम जाति के उपेक्षा का आरोप दरौली(सु) विधानसभा क्षेत्र से लड़ेगे निर्दलीय चुनाव

Share This
अनूप नारायण सिंह 

मिथिला हिन्दी न्यूज :- डोम जाति को राजनीति में उचित प्रतिनिधित्व नहीं मिला है सभी राजनीतिक दलों ने इस जाति का इस्तेमाल सिर्फ और सिर्फ वोट बैंक के रूप में किया है जब भी चुनाव आता है तब इस जाति के जो भी उम्मीदवार होते हैं उन्हें अंतिम समय में दरकिनार कर दिया जाता है यह कहना है दरौली विधानसभा क्षेत्र से जदयू का टिकट चाहने वाले संतोष बांसफोर का जो बरसों से जदयू के सक्रिय कार्यकर्ता है तथा जिले में जदयू के संगठन को मजबूती प्रदान करने में लगे हुए हैं वे कहते हैं कि नीतीश कुमार से उन्हें ढेर सारी आशाएं थी पर यहां भी वही हुआ जो दूसरे दलों में होता है.
उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार पूरी तरह से जातीय संकरण से भरे हुए इंसान हैं कार्यकर्ताओं का इस पार्टी में कोई कदर नहीं है 15 वर्षों से वे दलित समाज का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं अपने क्षेत्र में लोकप्रिय है नीतीश कुमार के विकास कार्यों को जनता तक लेकर गए हैं पूरी ईमानदारी के साथ पार्टी और संगठन में लगे हुए हैं उन्हें भरोसा दिया गया था कि छात्रों ने टिकट देगी पर डोम जाति का होने के कारण अंतिम समय में उनका टिकट काट दिया गया वह बार-बार मिलने की कोशिश करता है कोई भी वरीय पदाधिकारी मिलने को तैयार नहीं है ऐसी स्थिति में उन्हें लगता है कि सरकार दलित विरोधी सरकार है.संतोष बाँसफोर ने चुनाव लड़ने के सवाल पर कहा कि वे क्षेत्र में जाएंगे क्षेत्र के लोगों का दबाव है लोग जाते हैं कि वे चुनाव लड़ने लोग आपस में चंदा कर रहे हैं जनता जनतंत्र में सर्वोपरि है जनता मालिक है जनता जो आदेश देगी उसे पूरा करेंगे उन्होंने कहा कि सिर्फ जादू ही नहीं अन्य पार्टियां भी डोम जाति को दरकिनार करने में लगी हुई हैं डोम जाति के नेताओं की हत्या हो रही है सत्ता और अपराध के खिलाफ बोलने वाले लोगों को डराया धमकाया जा रहा है इस चुनाव में जनता ही जवाब देगी

live

हमारे बारें में जानें

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages