अपराध के खबरें

शिवहर जिले में कोरोना खात्मे को लेकर शुरू टीकाकरण दूसरे दिन भी जारी

- पहले चरण में 2355 लोगों को वैक्सीनेशन का लक्ष्य

प्रिंस कुमार 

कोरोना के खात्मे को लेकर शुरू टीकाकरण लगातार जारी है। सोमवार को भी सरोजा सीताराम सदर अस्पताल शिवहर, उप स्वास्थ्य केंद्र नरवारा और सोनौल सुल्तान हाईस्कूल स्थित केंद्रों पर सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार टीकाकरण किया गया। सिविल सर्जन डॉ. आरपी सिंह ने बताया कि जिले में पहले चरण के टीकाकरण के तहत सरकारी-गैर सरकारी अस्पतालों के चिकित्सक, कर्मी, पारा मेडिकल स्टाफ और आशा आदि का टीकाकरण करना है। इसके लिए कुल 2355 लोगों का को-विन साफ्टवेयर पर निबंधन हुआ है। इनमें पहले दिन शनिवार को 300 के लक्ष्य के विरूद्ध 190 लोगों को टीका लगाया गया। 

सप्ताह में चार दिन टीकाकरण
सिविल सर्जन डॉ. आरपी सिंह ने बताया कि सरकार द्वारा नया गाइडलाइन जारी होने तक सोमवार, मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को तीनों केंद्रों पर कोरोना का टीका लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि शनिवार को जिन लोगों को टीका लगाया गया था, स्वास्थ्य विभाग द्वारा इसकी मॉनिटरिंग की जा रही है। कहीं किसी प्रकार की शिकायत नहीं मिली है। 

वैक्सीन की 288 वायल मिली

सीएस ने बताया कि शिवहर को कोविशील्ड शिल्ड वैक्सीन की 288 वायल मिली है। पहले फेज में जितने लोगों को टीका लगना है, उससे 525 डोज जिले में उपलब्ध है। कोविशील्ड कोविशिल्ड स्वदेशी और सुरक्षित है। पहले फेज के टीकाकरण की प्रक्रिया पूर्ण करने के बाद दूसरे चरण के टीकाकरण की शुरुरूआत की जाएगी। 

पहले चरण में 2355 लोगों के को वैक्सीनेशन का लक्ष्य
पहले चरण में जिले के 2355 लोगों का वैक्सीनेशन करने का लक्ष्य है। पहले दिन 190 लोगों का वैक्सीनेशन किया गया। अब 2165 का वैक्सीनेशन शेष रह गया है। इनमें प्रति दिन प्रत्येक केंद्र पर सौ-सौ समेत 300 तथा सप्ताह में 1200 लोगों का टीकाकरण करने का लक्ष्य तय किया गया है। सदर अस्पताल के 180, पुरनहिया पीएचसी के 312, तरियानी पीएचसी के 519, शिवहर पीएचसी के 420, पिपराही पीएचसी के 515, डुमरी कटसरी पीएचसी के 285 चिकित्सक और कर्मियों के अलावा निजी अस्पतालों के 124 चिकित्सक और कर्मियों का टीकाकरण होना है। इनमें 190 का टीकाकरण हो चुका है।

कोरोना काल में इन उचित व्यवहारों का करें पालन,- 
- एल्कोहल आधारित सैनिटाइजर का प्रयोग करें।
- सार्वजनिक जगहों पर हमेशा फेस कवर या मास्क पहनें।
- अपने हाथ को साबुन व पानी से लगातार धोएं।
- आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें।
- छींकते या खांसते वक्त मुंह को रूमाल से ढकें।

live