सदर अस्पताल में कैंसर परामर्श शिविर का आयोजन शुरू,10 तक चलेगा - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

सदर अस्पताल में कैंसर परामर्श शिविर का आयोजन शुरू,10 तक चलेगा

Share This
 
- विश्व कैंसर दिवस के उपलक्ष्य में होगा आयोजन
- एसकेएमसीएच तथा पीएमसीएच कैंसर वार्ड में रेफर की व्यवस्था

प्रिंस कुमार 

सीतामढ़ी, 4 फरवरी| 
विश्व कैंसर दिवस के अवसर पर सदर अस्पताल में गुरुवार को कैंसर परामर्श शिविर के आयोजन की शुरुआत हुई। जिसका विधिवत उद्घाटन अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ एस के चौधरी ने किया। मौके पर एसीएमओ डॉ एसके चौधरी ने कहा कि विश्व कैंसर दिवस मनाने का मकसद विभिन्न तरह के कैंसर के बारे में लोगों के बीच जागरूकता लाना है| ताकि कैंसर के रोगियों में कमी लायी जा सके और कैंसर की शुरुआती पहचान कर उसका निदान किया जा सके। वहीं जिला गैर संचारी रोग पदाधिकारी डॉ सुनील कुमार सिन्हा ने कहा कि विश्व कैंसर दिवस के उपलक्ष्य में सदर अस्पताल में कैंसर की स्क्रीनिंग तथा परामर्श के लिए शिविर लगायी जा रही है। यह शिविर 4 फरवरी से 10 फरवरी तक चलेगा । सदर अस्पताल में इसके लिए रुम नम्बर 9 तथा रुम नम्बर 4 एवं रुम नम्बर 17 में स्वास्थ्यकर्मियों की नियुक्ति की गई है। इसके अलावा एक सामान्य शिविर की भी व्यवस्था की गयी है। जिन मरीजों की स्क्रीनिंग में कैंसर के लक्षण पाए जाएँगे उन्हें एसकेएमसीएच या पीएमसीएच के कैंसर वार्ड में रेफर किया जाएगा। 

बैनर- पोस्टर लगा किया जा रहा जागरूक 
जिला एनसीडी पदाधिकारी डॉ सुनील कुमार सिन्हा ने कहा कि कैंसर के बारे में आम लोगों को जागरूक करने के लिए अस्पताल सहित शहर के अन्य मुख्य जगहों पर बैनर तथा पोस्टर लगाए गए हैं। इस वर्ष भी विश्व कैंसर दिवस की थीम 'मैं हूं और मैं रहूंगा' है। 
कैंसर होने के कारण 
लम्बे समय तक तंबाकू या गुटखे का सेवन करना, सिगरेट पीना, शराब पीना, लंबे समय तक रेडिएशन के संपर्क में रहना, आनुवंशिक दोष होना, शारीरिक निष्क्रियता, खराब पोषण एवं कभी-कभी मोटापा भी कैंसर होने की वजह बन सकता है।

कई तरह का होता है कैंसर
कैंसर कई तरह के होते हैं, लेकिन जो केस सबसे ज्यादा सामने आते हैं| उनमें स्तन कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, पेट का कैंसर, ब्लड कैंसर, गले का कैंसर, गर्भाशय का कैंसर, अंडाशय का कैंसर, प्रोस्टेट (पौरुष ग्रंथि) कैंसर, मस्तिष्क का कैंसर, लिवर (यकृत) कैंसर, बोन कैंसर, मुंह का कैंसर और फेफड़ों का कैंसर शामिल हैं । मौके पर एसीएमओ डॉ एसके चौधरी, एनसीडी पदाधिकारी डॉ सुनील कुमार सिन्हा, डीसीएम समरेन्द्र कुमार वर्मा, मेडिकल ऑफिसर डॉ सुरेन्द्र, डॉ मनोज, संगीता झा, मैनेजर शंभु शरण समेत एएमएम की छात्राएं सहित कर्मी भी उपस्थति थे।सदर अस्पताल में कैंसर परामर्श शिविर का आयोजन शुरू,10 तक चलेगा 
- विश्व कैंसर दिवस के उपलक्ष्य में होगा आयोजन
- एसकेएमसीएच तथा पीएमसीएच कैंसर वार्ड में रेफर की व्यवस्था
सीतामढ़ी, 4 फरवरी| 
विश्व कैंसर दिवस के अवसर पर सदर अस्पताल में गुरुवार को कैंसर परामर्श शिविर के आयोजन की शुरुआत हुई। जिसका विधिवत उद्घाटन अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ एस के चौधरी ने किया। मौके पर एसीएमओ डॉ एसके चौधरी ने कहा कि विश्व कैंसर दिवस मनाने का मकसद विभिन्न तरह के कैंसर के बारे में लोगों के बीच जागरूकता लाना है| ताकि कैंसर के रोगियों में कमी लायी जा सके और कैंसर की शुरुआती पहचान कर उसका निदान किया जा सके। वहीं जिला गैर संचारी रोग पदाधिकारी डॉ सुनील कुमार सिन्हा ने कहा कि विश्व कैंसर दिवस के उपलक्ष्य में सदर अस्पताल में कैंसर की स्क्रीनिंग तथा परामर्श के लिए शिविर लगायी जा रही है। यह शिविर 4 फरवरी से 10 फरवरी तक चलेगा । सदर अस्पताल में इसके लिए रुम नम्बर 9 तथा रुम नम्बर 4 एवं रुम नम्बर 17 में स्वास्थ्यकर्मियों की नियुक्ति की गई है। इसके अलावा एक सामान्य शिविर की भी व्यवस्था की गयी है। जिन मरीजों की स्क्रीनिंग में कैंसर के लक्षण पाए जाएँगे उन्हें एसकेएमसीएच या पीएमसीएच के कैंसर वार्ड में रेफर किया जाएगा। 

बैनर- पोस्टर लगा किया जा रहा जागरूक 
जिला एनसीडी पदाधिकारी डॉ सुनील कुमार सिन्हा ने कहा कि कैंसर के बारे में आम लोगों को जागरूक करने के लिए अस्पताल सहित शहर के अन्य मुख्य जगहों पर बैनर तथा पोस्टर लगाए गए हैं। इस वर्ष भी विश्व कैंसर दिवस की थीम 'मैं हूं और मैं रहूंगा' है। 
कैंसर होने के कारण 
लम्बे समय तक तंबाकू या गुटखे का सेवन करना, सिगरेट पीना, शराब पीना, लंबे समय तक रेडिएशन के संपर्क में रहना, आनुवंशिक दोष होना, शारीरिक निष्क्रियता, खराब पोषण एवं कभी-कभी मोटापा भी कैंसर होने की वजह बन सकता है।

कई तरह का होता है कैंसर
कैंसर कई तरह के होते हैं, लेकिन जो केस सबसे ज्यादा सामने आते हैं| उनमें स्तन कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, पेट का कैंसर, ब्लड कैंसर, गले का कैंसर, गर्भाशय का कैंसर, अंडाशय का कैंसर, प्रोस्टेट (पौरुष ग्रंथि) कैंसर, मस्तिष्क का कैंसर, लिवर (यकृत) कैंसर, बोन कैंसर, मुंह का कैंसर और फेफड़ों का कैंसर शामिल हैं । मौके पर एसीएमओ डॉ एसके चौधरी, एनसीडी पदाधिकारी डॉ सुनील कुमार सिन्हा, डीसीएम समरेन्द्र कुमार वर्मा, मेडिकल ऑफिसर डॉ सुरेन्द्र, डॉ मनोज, संगीता झा, मैनेजर शंभु शरण समेत एएमएम की छात्राएं सहित कर्मी भी उपस्थति थे।

No comments:

Post a comment

live

Post Bottom Ad

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages