अपराध के खबरें

जानिए कैसे बालू माफिया हावी हो गए हैं बिहार के बालू घाटों पर

अनूप नारायण सिंह 


बिहार के आरा जिले के बड़हरा थाना अंतर्गत चूहा मखदुमपुर सोन घाट पर इन दिनों अवैध रूप से बालू का उत्खनन करने वाले माफियाओं का राज चलता है वैसे तो सरकारी आंकड़े में इस घाट का टेंडर ब्रॉडसन कंपनी के पास है जिसने बलिराम सिंह को इस घाट से बालू उठाव की लिखित अनुमति दी है लेकिन इस घाट से सैकड़ों बालू माफिया जुड़े हुए हैं जिनकी पहुंच शासन और प्रशासन तक है आए दिन इस घाट पर गोलीबारी होती है अपराधियों का खुलेआम तांडव होता है पुलिस अवैध बालू माफियाओं की जगह सीधे-साधे ग्रामीणों ट्रैक्टर चालक व मजदूरों को अपना निशाना बनाती है। स्थानीय बड़हरा थाने की भूमिका भी हुआ मखदुमपुर घाट को लेकर संदेहास्पद हाल ही में इस घाट से 15 किलोमीटर दूर तो अवैध गिरोहों के बीच हुई गोलीबारी में एक बच्ची घायल हो गई जिसमें पुलिस ने अपने तरफ से ऐसे व्यक्ति को नामजद अभियुक्त बना दिया है जो घटनास्थल के दिन पटना में एक सरकारी कार्यक्रम में मौजूद थे।इस मामले को लेकर आरोपी बलिराम सिंह और गोपाल सिंह ने बिहार के डीजीपी को आवेदन दिया है तथा फुहा मखदुमपुर बालू घाट को अवैध माफियाओं से मुक्त कराने तथा बड़हरा थाना प्रभारी द्वारा दर्ज किए गए मुकदमे की निष्पक्ष एजेंसी से जांच कराने की मांग भी की है।

live