अपराध के खबरें

कोविड टीका का दूसरा डोज लेने के बाद संतोष ने कहा- अब मैं सुरक्षित हूं


- कोविड टीकाकरण के दूसरे डोज में भी दिख रहा स्वास्थ्यकर्मियों का उत्साह

प्रिंस कुमार 

मोतिहारी, 4 मार्च | कोरोना टीकाकरण के दौरान स्वास्थ्यकर्मियों ने जो उत्साह दिखाया था, वैसा ही उत्साह तीसरे चरण में भी दिख रहा है। स्वास्थ्यकर्मियों के टीकाकरण के बाद लोगों में जागरूकता बढ़ गई है। स्वास्थ्यकर्मियों के बाद, पुलिसकर्मियों व सरकारी अधिकारियों को टीका लगने के बाद अब आम लोगों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। फ्रंटलाइन वर्कर्स के मन में जो संदेह था वह पहले डोज के बाद ही समाप्त हो गया था। अब वह फिर से अपनी बारी का बेसब्री से इंतजार करते दिख रहे हैं। डॉ संतोष कुमार के यहां कार्यरत संतोष ने भी कोविड के दूसरे डोज का टीका लिया। संतोष ने कहा कि दूसरा डोज लेने के बाद अब मन में इस बात का विश्वास जग गया है कि मैं सुरक्षित हूं। उन्होंने कहा कि गुरुवार को मुझे दूसरा डोज एएनएम प्रीती कुमारी द्वारा दोपहर 1 बजे दिया गया ।

देश की वैक्सिन पर विश्वास था
संतोष ने कहा कि मुझे शुरुआत से ही अपने देश की वैक्सिन पर विश्वास था। कहा कि मैंने स्वास्थ्यकर्मियों की मेहनत को काफी करीब से देखा था। कई लोगों को मैंने टीका के लिए प्रेरित किया है। अब मुझे सिर्फ 15 दिन का इंतजार है जब मेरे शरीर में कोरोना के प्रति प्रतिरोध क्षमता का विकास होगा। मैंने अपने क्लिनिक में भी साथियों के साथ टीकाकरण के अनुभव को साझा किया और सहकर्मियों को दूसरा डोज लेने की अपील की। 

डरने की नहीं है जरूरत 
संतोष ने कहा कि उसने पहला टीका सदर अस्पताल में ही लिया था। उस समय भी बिना किसी संदेह के टीका लिया था। ठीक 28 दिन के बाद टीका का दूसरा लिया। टीका लेने के बाद मैं पूरी तरह से स्वस्थ्य हूं। आम लोगों के बीच टीकाकरण को लेकर जो भ्रम फैल रहा है वह गलत है। इसका किसी भी तरह का बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है । टीका देने में कोविड के अनुरुप नियमों का पालन किया जाता है। 

लोगों में अब भय नहीं 
एएनएम प्रीती कुमारी, आरती कुमारी, सदर अस्पताल के डाटा ऑपरेटर विवेक कुमार, जीएनएम अंजली कुमारी, रेणु कुमारी, रजिस्ट्रेशन काउंटर के कर्मचारी प्रमोद कुमार ने बताया की गुरुवार की दोपहर तक 75 से ज्यादा लोगों को टीका दिया गया है। लोगों में अब भय नहीं देखा जा रहा है। लोग बारी बारी से इंतजार के साथ टीका ले रहे हैं। सभी स्वास्थ्यकर्मी कोरोना प्रोटोकॉल के तहत मास्क, सैनिटाइजर, सोशल डिस्टेंस का पालन कर रहे हैं।

पहला के बाद दूसरा डोज जरूरी
केयर के डीटीएल अभय कुमार, मनीष भारद्वाज ने बताया कि लोगों के बीच पहले एक भ्रम यह भी था कि एक डोज टीका लेने के बाद वह कोविड से बचाव कर सकेंगे । यह बिल्कुल गलत सोच थी। दूसरा डोज पड़ने के बाद ही कोरोना से लड़ने के लिए प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है। तब तक हमें और आपको भी कोरोना के अनुरुप व्यवहार का पालन करना चाहिए। 

सिविल सर्जन ने कहा कि टीकाकरण के बाद भी निम्न बातों का पालन आवश्यक है 
- व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें। 
- बार-बार हाथ धोने की आदत डालें।
- हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।
- छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके।
- घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें।
- आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें।

live