अपराध के खबरें

आज नहाय-खाय के साथ 4 दिनों का चैती छठ व्रत शुरू पूजा विधि व महत्व

संवाद 

मिथिला हिन्दी न्यूज :- लोकआस्था के महापर्व 'चैती छठ' शनिवार यानी 16 अप्रैल 2021, शुक्रवार को शुरू होने वाला है, लेकिन इस साल छठ शुरू होने के पहले शहर में उत्साह भरा माहौल नहीं दिख रहा है। इस वर्ष कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए कई व्रतियों ने छठ पर्व करना रद्द कर दिया है। व्रतियों की दुआ है कि देश बस, कोरोना वायरस से जंग जीत जाए। आपको बता दें कि साल में दो बार चैत्र और कार्तिक महीने में शुक्ल पक्ष में महापर्व छठ व्रत होता है, जिसमें श्रद्धालु भगवान भास्कर की अराधना करते हैं। 

जो व्रती हर हाल मेंयह पर्व मनाना चाहते हैं, उनके लिए चार दिवसीय चैती छठ शुक्रवार को नहाय खाय से प्रारंभ होना है और शनिवार को व्रती खरना करेंगी। रविवार को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया जाना है और सोमवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देकर व्रती पारण करेंगे।
नहाय-खाय तिथि: 16 अप्रैल 2021, शुक्रवार

खरना तिथि: 17 अप्रैल 2021, शनिवार

शाम के अर्घ्य की तिथि: 18 अप्रैल 2021, रविवार को

सुबह के अर्घ्य की तिथि: 19 अप्रैल 2021, सोमवार को

चैती छठ व्रत नियम और पूजा विधि

छठ पर्व 16 अप्रैल 2021 दिन शुक्रवार को चतुर्थी तिथि के दिन नहाय-खाय किया जाएगा. वहीं, 17 अप्रैल दिन शनिवार को पंचमी तिथि में लोहंडा या खरना होगा. इस दिन महिलाएं पूरे दिन व्रत रखती हैं और शाम में गुड़ वाली खीर का प्रसाद बनाकर सूर्य देव की पूजा करने के बाद इसी प्रसाद के साथ कुछ खाया जाता है.


live