अपराध के खबरें

रेलवे स्टेशन पर ही होगा कोविड टेस्ट, डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेन्टर भी होंगे चालू


- स्वास्थ्य कर्मियों को जिलाधिकारी ने दिए महत्वपूर्ण आदेश
-स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित होगा कंट्रोल रूम

प्रिंस कुमार 

मोतिहारी, 14 अप्रैल।
पूर्वी चम्पारण के जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक की अध्यक्षता में कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम एवं टीकाकरण से संबंधित एक समीक्षात्मक बैठक की गई । जिसमें सिविल सर्जन सहित स्वास्थ्य विभाग के सभी पदाधिकारी उपस्थित थे ।
कोविड डेडिकेटेड सेंटर को चालू किया जाए-
जिलाधिकारी ने कहा कोविड डेडिकेटेड सेंटर को चालू किया जाए तथा उसमें डॉक्टर को चिह्नित कर पदस्थापित किया जाए। सेंटर में सफाई आदि की समुचित व्यवस्था हो इसके लिए अलग से सफाईकर्मी की व्यवस्था की जाए ।
उन्होंने कहा प्रवासी मजदूरों का आना शुरू हो गया है| उन्हें चिह्नित कर सूची तैयार की जाए। सभी प्रखंडों और सभी अनुमंडल स्तर पर तैयार क्वारंटाइन सेंटर की सूची उपलब्ध करायी जाए।
जिला प्रवासी श्रमिक कंट्रोल रूम बनाया जाए।-
 उन्होंने श्रम अधीक्षक को निर्देशित करते हुए कहा जो भी प्रवासी मजदूर आ रहे हैं उनकी सूची तैयार कर उनकी समस्याओं का निराकरण हेतु एक अलग से जिला प्रवासी श्रमिक कंट्रोल रूम बनाया जाए। जिसमें कोविड से प्रभावित कोई श्रमिक अपनी समस्याओं के समाधान हेतु कॉल कर सकते हैं । यह कंट्रोल रूम सुबह 8:00 बजे से रात 8:00 बजे तक कार्यरत रहेगा।जिला श्रमिक कंट्रोल रूम का नंबर _06252-242418 हैं। 
 उन्होंने सिविल सर्जन को निर्देश दिया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा से कंट्रोल रूम संचालित होगा तथा कंट्रोल रूम का नंबर सर्वजनिक किया जाए। टीकाकरण का अपडेट दो-दो घंटा पर किया जाए और जांच की अपडेट 4 घंटे पर रिपोर्ट तैयार की जाए। 
ट्रेन के यात्री का कोरोना टेस्ट रेलवे स्टेशन पर ही किया जाए-
जिलापदाधिकरी ने कहा कि बाहर से आने वाले हर ट्रेन के यात्री का कोरोना टेस्ट रेलवे स्टेशन पर ही किया जाए और उनको वहीं से क्वारंटाइन सेंटर में भेजा जाए या जो होम आइसोलेशन में जाना चाहते हैं उसे होम आइसोलेशन में भेज दिया जाए। उन्होंने सभी आवश्यक दवाओं और ऑक्सीजन सिलिंडर का स्टॉक रखने हेतु निर्देश दिया। कहा कि सभी डॉक्टर अपने कर्तव्यों का सही अनुपालन करें| समय से हॉस्पिटल आयें |उन्होंने डॉक्टरों के बायोमैट्रिक अटेंडेंस बनाने का निर्देश दिया और कहा कि इसी के आधार पर उनकी वेतन निकासी होगी। उन्होंने निर्देश दिया कि किसी भी तरह की ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने सभी पदाधिकारियों को एक टीम के रूप में कार्य करने का निर्देश दिया।

live