अपराध के खबरें

पूर्वी चम्पारण के ग्रामीण क्षेत्रों में केयर के सहयोग से चल रहा है कोविड टीकाकरण

- आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, व जीविका दीदियां भी कर रही हैं सहयोग ।

प्रिंस कुमार 

मोतिहारी 15 अप्रैल।
जिला के चकिया, मधुबन, मेहसी, फेनहारा, तुरकौलिया, चिरैया आदापुर, अरेराज, व सुगौली प्रखंड के स्वास्थ्य केंद्रों पर केयर कर्मियों के सहयोग से कोविड 19 का टीकाकरण कराया जा रहा है । 
चकिया में अनुमंडलीय अस्पताल के साथ ही अन्य 6 स्थानों पर टीकाकरण कार्य किया गया. जिसमें रासमंडल प्राथमिक विद्यालय, अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पिपरा,
पंचायत भवन सागर,मध्य विद्यालय भेरखिया,मध्य विद्यालय परसौनी किशुन क्षेत्रों को शामिल किया, वही परसौनी किशुन गांव के मध्य विद्यालय में प्रखंड प्रमुख माननीय अशोक शर्मा के द्वारा टीकाकरण कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया। प्रमुख द्वारा सभी को बताया गया कि 45 साल से ऊपर सभी लोगों को सरकार द्वारा कोविड का टीकाकरण किया जा रहा है। सभी को आगे आकर इसका फायदा उठाना चाहिए। प्रमुख ने बताया कि 
किसी भी जगह पर जाने से पहले मास्क जरूर लगाएं। इस बात का जरूर ध्यान दें कि आपका मास्क उतरने न पाए। ​खांसने और छींकने वाले लोगों से रहें दूर।
ब्लॉक मैनेजर कुन्दन कुमार बे बताया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर 45 वर्ष से ऊपर के व्यक्ति को कोविड-19 का टीका दिया गया है । जिसमें 3 बजे तक सभी जगह मिलाकर लगभग 300 से ज्यादा लोगो को टीका दिया गया । अभी टीका का कार्य चल रहा है । इस कार्य में केयर इंडिया टीम द्वारा लक्ष्य प्राप्ति हेतु सभी सत्र स्थल पर आवश्यक सहयोग किया गया । स्वास्थ्य केंद्र पर इस कार्य में केयर इंडिया के प्रखंड प्रबंधक कुन्दन कुमार ने बताया कि कोविड टीकाकरण में लगातार स्वास्थ्य कर्मी अपनी सेवाएं दे रहे हैं । जिनमें डॉक्टर, नर्स, डाटा ओपरेटर, लैब टेक्नीशियन, स्वास्थ्य कर्मी, सफाई कर्मी भी शामिल है । सभी मास्क, सैनिटाइजर के साथ कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का पालन करते हुए लगातार सेवा दे रहे हैं ।
 
सिविल सर्जन डॉ अखिलेश्वर प्रसाद सिंह ने बताया सदर अस्पताल में कोरोना के मरीजों के लिए हर प्रकार की दवाएं उपलब्ध है। लगभग अभी तक 11.5 लाख से ज्यादा लोगों की कोरोना की जाँच की जा चुकी है । वहीं बुधवार को जिले में 94 मरीज पाए गए हैं । 
 सदर अस्पताल के कोरोना आइसोलेशन सेंटर पर कंट्रोल रूम भी खोले गए हैं जिसमें लगातार स्वास्थ्य कर्मी अपनी सेवाएं दे रहे हैं । सिविल सर्जन डॉ अखिलेश्वर प्रसाद सिंह ने बताया कि जिले में कोरोना का टीकाकरण किया जा रहा है । यहाँ पर जाँच , व टीकाकरण संबंधित सभी सुविधाएं उपलब्ध है । किसी प्रकार की कमी होने पर तुरंत पटना , दिल्ली से सम्पर्क स्थापित कर सहयोग लिया जाता हैं । ग्रामीण क्षेत्रों , बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, मॉल, सहित कई भीड़ भाड़ वाले इलाकों में कोरोना की जाँच की जा रही है । जिले में बाहर से आनेवाले लोगों को भी चिन्हित कर जाँच की जा रही । जगह -जगह मास्क पहनने व कोरोना से बचने के लिए जागरूकता फैलायी जा रही है । जिले में प्रत्येक दिन 5000 से 6000 लोगों की कोरोना जाँच की जा रही है। कोरोना के मरीज मिलने पर जांच करने के बाद उन्हें होम क्वारंटाइन किया जा रहा है।वहीं गंभीर स्थिति में सदर अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड में मरीजों का इलाज किया जा रहा है । आपातकालीन स्थिति में मरीजों को पटना रेफर भी किया जा रहा है । वही आरटी पीसीआर जांच एवं एंटीजन टेस्ट बढ़ाने पर भी विचार किया जा रहा है । जब तक सभी लोगों का टीकाकरण नही हो जाता कोरोना काल मे सावधानी बरतने की जरूरत है । 
 मौके पर डॉ संतोष श्रीवास्तव, बी एच एम सशिकांत श्रीवास्तव, कुन्दन कुमार रौशन बी एम केअर, प्रखंड सामुदायिक उत्प्रेरक धर्मेंद्र कुमार, बी एम सि यूनिसेफ सुजीत कुमार दीपक, बी एम एन्ड ई राजकुमार प्रिंस, आलोक कुमार आई सी टी केअर, सानिया राज जी एन एम, प्रतिभा वर्मा आशा फैसिटीलेटर, आराधना कुमारी ए एन एम इत्यादि भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।

कोरोना काल में इन उचित व्यवहारों का करें पालन
- एल्कोहल आधारित सैनिटाइजर का प्रयोग करें।
- सार्वजनिक जगहों पर हमेशा फेस कवर या मास्क पहनें।
- अपने हाथ को साबुन व पानी से लगातार धोएं।
- आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें।
- छींकते या खांसते वक्त मुंह को रूमाल से ढकें।

live