अपराध के खबरें

जो भी पॉजिटिव है उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है कोविड-19 नोडल पदाधिकारी डॉक्टर इमरान मेहंदी

प्रिंस कुमार 
 
जिला शिवहर पिपराही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर जिला पदाधिकारी सज्जन आर एवं सिवल सर्जन शिवहर डा आर पी सिंह के निर्देश पर पिपराही प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ रमाशंकर साह के द्वारा कोविड-19 नोडल पदाधिकारी डॉक्टर इमरान मेहंदी के नेतृत्व में टीम गठित कर कोविड-19 की जांच लैब टेक्नीशियन, प्रवीण कुमार गुप्ता, नितेश्वर झा, धीरज कुमार पांडे,CHO योगेश,एजाज़ुल हक़ ,सुजाता कुमारी के द्वारा किया गया ।जांच के दौरान आज कुल 375 लोगों का कोविड-19 का जांच का सैंपल लिया गया है

R.T.P.C.R. के तहत 60 लोगों का जांच सैंपल लिया गया है जिसका सैंपल पटना भेजा जाता है। 
ट्रूनैटके तहत 10 लोगों का सैंपल जांच लिया गया है जो सदर हॉस्पिटल शिवहर भेजा गया है । रैपिड एंटीजैन के अंतर्गत 305 जांच सैंपल लिया गया जो सभी नेगेटिव पाए गए है।

कोविड-19 नोडल पदाधिकारी डॉक्टर इमरान मेहंदी ने बताया कि जो भी पॉजिटिव है उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है 
*अगर संक्रमण हो जाए तो ये कैसे पता चलेगा*
कोरोना वायरस संक्रमण का प्रमुख लक्षण बुखार और सूखी खांसी आना है. अगर आपको ये दोनों लक्षण नज़र आ रहे हैं तो बेशक आपको सावधान होने की ज़रूरत है,इसके अलावा गले में ख़राश, सिर दर्द, डायरिया जैसे लक्षण भी कुछ मामलों में पाए गए हैं. कुछ मामलों में लोगों ने शिकायत की है कि उनके मुंह का स्वाद भी चला गया. कुछ ने गंध ना महसूस होने की भी शिकायत की है,हालांकि कई मामलों में मरीज़ों में, कोरोना संक्रमण का कोई लक्षण नहीं देखा गया है.
*क्या करना चाहिए अगर लक्षण नज़र आएं तो*
विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, अगर आपको ख़ुद में ऐसे लक्षण नज़र आ रहे हैं तो घर में रहें. अगर लक्षण बेहद कम भी हैं तो भी पूरी तरह ठीक होने तक घर पर ही बने रहें,याद रखें, कोविड19 के मामले मे ऐसे में यह ध्यान रखना सबसे ज़रूरी है कि आप दूसरों के संपर्क में आने से बचें.।
अगर बुख़ार और खांसी लगातार बढ़ रही है और सांस लेने में दिक़्क़त हो रही है तो अब आपको मेडिकल सलाह लेने की ज़रूरत है. हो सकता है कि इसकी वजह कोरोना संक्रमण हो भी और नहीं भी,पहले से ही अपने स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने वाले शख़्स से संपर्क में रहें. ताकि आपको सही समय पर सही इलाज और सलाह मिल सके तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क करे जिससे समय रहते बेहतर इलाज हो सकेगा।जो मेडिकल किट दी जा रही है उन दवाइयों का नियमित सेवन करें.अपने आप को आइसलेट कर लें।
अगर घर में अतिरिक्त कमरा ना हो तो नजदीकी कोविड- केयर सेंटर में भर्ती करें ।
मौके पर, डाटा ऑपरेटर राजाकुमार, स्वास्थ्य प्रबंधक ठाकुर विवेक सिंह, बीसीएम मीनाक्षी कुमारी, एनएम सुजाता कुमारी आशा फैसिलिटेटर, उपस्थित ।

live