अपराध के खबरें

28 दिन की समझदारी और आत्मसंयम से होम आइसोलेशन में कोरोना को दी मात

- संक्रमण के दौरान भी बीपी और शुगर की दवाओं को रखा चालू
- संक्रमण से बचाव में कोविड टीकाकरण को अहम मानते हैं हनुमान साह

प्रिंस कुमार 

बढ़ती उम्र और बीपी-शुगर, किसी के हौसले पस्त करने के लिए काफी है । उस पर भी अगर कोरोना का संक्रमण हो जाए तो नकारात्मक विचार आना स्वाभाविक है। ऐसी परिस्थिति में हनुमान साह(काल्पनिक नाम ) कोरोना संक्रमितों के लिए प्रेरणा के स्रोत हो सकते हैं। जिन्होंने अपनी सूझ -बूझ से खुद को कोरोना निगेटिव तो किया ही अपने बेटे और भतीजे को भी कोरोना निगेटिव करने में मदद की । 28 दिन का होम आइसोलेशन और जरूरी वक्त पर उन सभी नियमों का पालन किया जिससे कोरोना को मात दी जा सकती थी। हनुमान साह के संक्रमण की शुरुआत भी नाक बहने और बुखार के साथ ही हुई थी। जिसके बाद 16 अप्रैल को उनकी रिपोर्ट पॉजिटीव आयी थी | 
डरा नहीं सिर्फ लड़ा 
हनुमान साह कहते हैं मैं शुरुआत में थोड़ा घबरा गया था, पर उससे काम नहीं चलने वाला था। इसके लिए मैंने एक रुटीन बनाया। हर एक घंटे पर मैं नींबू पानी पीता। काढ़ा पीता। सुबह और शाम के खाने में पौष्टिकता को बढ़ा दिया। इस बीच मैं अपनी और बेटे के ऑक्सीजन लेवल पर नजर बनाए हुए था। मेरे बेटे को संक्रमित हुए चार दिन हुए थे कि उसका थोड़ा सा दम फूला। मैंने तुरंत उसे भाप लेने को कहा। भाप लेने पर उसे काफी राहत हुआ। इस बीच मैं ही भाप लेना भूल रहा था। तभी संक्रमण के सातवें दिन मुझे भी छाती में थोड़ी दिक्कत महसूस हुई। डॉक्टर ने तुरंत दिन में तीन बार भाप लेने को कहा। भाप लेने पर पूरा शरीर हल्का महसूस होता था। यह मेरे ऑक्सीजन लेवल को तुरंत ही बढ़ा देता था। मैं दिन भर में चार बार भाप लेता था। 14 वें दिन मैं पूरी तरह ठीक हो गया। फिर भी एहतियातन मैंने 28 दिन का होम आइसोलेशन लिया। 
बीपी, शु गर की दवाएं रखी चालू
संक्रमण के दौरान मैंने अपनी बीपी और शुगर की दवाएं चालू रखी। डॉक्टरों का परामर्श था कि यह दवाएं संक्रमण के दौरान भी चालू रखनी थी। इन बीमारियों के कारण ही मुझे संक्रमण की दवाओं की डबल डोज लेनी पड़ी। इसलिए मैं दूसरों को भी सलाह दूंगा कि वे अपनी बीपी, शुगर और हृदय की दवाओं का सेवन संक्रमण के दौरान बिल्कुल ही चालू रखें। 
वैक्सीन जरूर लगवाऊंगा
हनुमान साह कहते हैं, मैं वैक्सीन की डोज के लिए रजिस्ट्रेशन करवा चुका हूं। पहले मैं थोड़ा असमंजस में था कि अपनी बीमारी के कारण लगवाऊं कि नहीं पर अब मैं बिल्कुल स्पष्ट हूं। मैं और लोगों से भी अपील करुंगा कि वे भी जरूर टीकाकरण करवाएं।
Tags

live