अपराध के खबरें

कोचिंग में हुई मोहब्बत, मंदिर में शादीः बिना बैंड-बाजा के लॉकडाउन पढें अनोखी शादी की खबर

संवाद 

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए पूरे बिहार में लॉकडाउन घोषित किया गया है। ऐसे में शादी आदि समारोह प्रभावित हुए हैं।विवाह समारोह में शान शौकत के आगे रुपये कोई मायने नही रखता है और लाखों रुपये खर्च किये जाते है।लेकिन आज दोपहर गया के विष्णुपद मन्दिर परिसर में एक अनोखी शादी हुई।इस दौरान ना कोई बारात निकाली और ना हीं बैंड बाजे की आवाज।दोनों प्रेमी युगल वाहन से उतरे और सीधा पहुँच गए शादी करने।बस आधे घँटे में चट मंगनी और पट ब्याह हो गया।शादी में केवल दूल्हे के माता-पिता सहित कुल 5 लोग हीं उपस्थित रहे।इस दौरान को रोना महमा री के कारण लॉक डाउन के सभी नियमो का अनुपालन भी किया गया।
यँहा लड़के ने लड़की की मांग में सिंदूर दिया दोनों का जयमाला भी हुआ और पंडित जी ने मंत्र पढा और पूरी शादी खत्म हो गई।

ज्ञात हो कि दोनों प्रेमी युगल आज से 4 साल पहले दोनों पढाई के दौरान कोचिंग में एक दूसरे से मिले थे उसी समय से दोनों के बीच प्रेम चलता रहा।इस बीच दोनों रिलेशनशिप में भी रहें है।वंही शादी के बाद प्रेमी जोड़े ने मंदिर के बाहर गेट पर हीं भगवान विष्णु को प्रणाम किया और मन्दिर परिसर के बाहर भिखारियों को दान देकर दोनों वाहन में सवार होकर एक दूसरे के लिए घर के लिए निकल पड़े

युवक ने बताया कि दोनों एक दूसरे से पिछले 4 वर्षों से प्यार करते रहे है इस बीच शादी के लिए लड़की पक्ष के लोग तैयार नही थे लेकिन दोनों बालिक है वंही लड़की ने भी साथ रहने की कसमें खा रखी थी इसलिए हम अपने घर के कुछ परिवार के साथ लॉक डाउन का पालन करते हुए यह शादी किये है। 

live