बिहार के गया ज़िले में कोरोना को भगाने के लिए की गई तांत्रिक पूजा,बकरे की दी बलि - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

बिहार के गया ज़िले में कोरोना को भगाने के लिए की गई तांत्रिक पूजा,बकरे की दी बलि

Share This
संवाद 


मिथिला हिन्दी न्यूज : - कोरोना के बढ़ते मामलों और मौतों के बीच लोग त्राहि-त्राहि कर रहे हैं। अस्‍पतालों, बेड, ऑक्‍सीजन, दवाइयां सहित बचाव की तमाम चीजों की किल्‍लत और आम आदमी को अब इस वैश्विक महामारी से बचने का कोई उपाय नहीं सूझ रहा है। ऐसे में लोग तरह-तरह के उपाय अपनाने लगे हैं। कहीं कोरोना देवी की पूजा हो रही है, बिहार के गया में एक तांत्रिक पूजा को अंजाम दिया गया. बकायदा एक बकरे की बलि भी दी गई और भगवान से कोरोना मुक्ति की प्रार्थना हो रही है बकायदा पूजा में कई लोग शामिल हुए.। भगवान से प्रार्थना किया गया इस कोरोना महामारी से मुक्ति मिले। कालीबाड़ी  मंदिर परिसर के लोगों ने बताया कोरोना महामारी के चलते माता की विशेष रूप से पूजा अर्चना की गई. प्रार्थना की गई कि सभी को मन की शांति मिले और इस कोरोना महामारी से मुक्ति. यहीं सब बोल माँ को आहुति दी गई. बताया गया है की जब यहाँ पर विशेष पूजा अर्चना की जाती है तो बलि हर बार जी जाती है लेकिन इस बार संकल्प कर के विशेष रूप से बलि दी गई है. प्रार्थना की गई कि कोरोना वायरस खत्म हो जाए और विश्व में कोरोना के नाम पर जो भी कष्ट हो रहा है वो सब दूर हो जाए. गौरतलब है कि इससे पहले बिहार में कोरोना भगाने को लेकर एक अंधविश्वास बड़ी तेजी से प्रसारित हुआ था। अंधविश्वास के कारण बिहार में कोरोना माई की पूजा शुरू कर दी गयी थी । बिहार के बरौनी, बेगूसराय, दरभंगा, चंपारण, सारण सहित दर्जनों जिलों में महिलाएं कोरोना माई की पूजा कर रही थी । देखते-देखते बिहार के कई जिलों में महिलाओं ने कोरोना माई की पूजा शुरू कर दी है। निर्जन खेत में अड़हुल के 9 फूल रखकर अगरबत्ती जलाकर 9 लड्डू और 9 लौंग के भोग लगाएं जा रहे थे ।

live

हमारे बारें में जानें

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages