पूर्वी चम्पारण जिले मे कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में आई कमी - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

पूर्वी चम्पारण जिले मे कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में आई कमी

Share This
- मास्क, सैनिटाइजर, व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन है कोरोना से बचाव में मददगार 
- टीकाकरण है जरूरी

प्रिंस कुमार 
मोतिहारी , 31 मई। 
पूर्वी चम्पारण जिला प्रशासन एवम स्वास्थ्य विभाग द्वारा लोगों में जागरूककता के साथ जाँच एवम टीकाकरण को शहर के साथ साथ सभी ग्रामीण क्षेत्रों में पहुँचाने का नतीजा अब देखने को मिल रहा है । अब जिले में कोविड-19 का मामला दिनोंदिन घटता जा रहा है । पूर्वी चम्पारण के सिविल सर्जन डॉ अखिलेश्वर प्रसाद सिंह ने बताया पूर्वी चंपारण जिले में अप्रैल 2020 से 30 मई 21 तक कुल 1331781 लोगो की सैंपलिंग टेस्टिंग की जा चुकी है, जिनमें संक्रमितों की कुल संख्या 18475 है। शनिवार को 2359 लोगों की जांच हुई जिसमें 22लोग संक्रमित पाए गए। वहीँ शुक्रवार को जांच किए गए 2746 लोगों में 31संक्रमित पाए गए थे।
जिले में कुल 626एक्टिव केस हैं, जिसमें 456 होम आइसोलेशन, 136 कोविड केयर सेंटर्स में और 14उच्चतर स्वास्थय केंद्रों को रेफर किए गए हैं।
आज 113 लोगों को डिस्चार्ज किया गया है जिसमें 7 डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर से तथा 106 होम आइसोलेशन से। पूर्वी चम्पारण जिले मे कोरोना संक्रमण दर 01.52% , रिकवरी दर 94.86% और फैटलिटी दर 1.59% है। जिले के विभिन्न डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर डीसीएचसी में कुल 955 बेड हैं जिसमें 136 करोना मरीज भर्ती हैं, जिसका इलाज चल रहा है। डीआईओ डॉ शरदचन्द्र शर्मा ने बताया - जिला मे अभी तक कोविड 19 टीका का फर्स्ट डोज 355719 लोगों को एवम सेकंड डोज 60948 लोगों को दिया गया है। लोग टीक लेकर सुरक्षित हो रहे हैं । 
सिविल सर्जन ने टीका लेने के बाद भी सभी लोगों से मास्क, सैनिटाइजर, व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते रहने की अपील करते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग एवम जिला प्रशासन के सहयोग से मोबाइल टीका वैन संचालित हो रहा है। जिसके कारण लोग कोरोना की जानकारी के साथ साथ जाँच व टीका लगवाकर सुरक्षित हो रहे हैं । लोगों की सूझबूझ अब काम आई है जिसका परिणाम है कि जिले में कोविड का मामला पहले से कम दिखाई दे रहा है। 

लॉकडाउन और लोगों की सतर्कता से आई कमी: सिविल सर्जन
सिविल सर्जन डॉ अखिलेश्वर प्रसाद सिंह ने कहा कि संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आना और उनका लगातार ठीक होना जिले के लिए खुशी की बात है और एक अच्छा संकेत है। लॉकडाउन और लोगों में संक्रमण को लेकर बरती जाने वाली सतर्कता इसकी मुख्य वजह है। उन्होंने कहा कि अभी तक हम लोगों ने संक्रमण पर विजय नहीं पाया है। अभी भी मामले सामने आ रहे हैं।
कोरोना के मरीज मिलने पर जांच करने के बाद उन्हें होम क्वारंटाइन किया जा रहा है। वहीं गंभीर स्थिति में सदर अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड में मरीजों का इलाज किया जा रहा है । आपातकालीन स्थिति में मरीजों को पटना रेफर भी किया जा रहा है । वहीं आरटी पीसीआर जांच एवं बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों व स्कूलो में कोविड टीकाकरण बढ़ाया जा रहा है। जब तक सभी लोगों का टीकाकरण नही हो जाता कोरोना काल मे सावधानी बरतने की जरूरत है। 
 ऐसे में हम लोगों को और सतर्क रहना पड़ेगा। उन्होंने 
जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि-कृपया मास्क का उपयोग करें, यथा संभव घर में रहें, भीड़- भाड़ वाले स्थानों पर ना जाएं, दो व्यक्तियों को बीच दो गज की दूरी बना कर रखें, नियमित अंतराल पर अपने हाथ साबुन से धोएं तथा कोरोना के कोई भी लक्षण दिखने पर तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र अथवा जिला कोविड नियंत्रण कक्ष के टॉल फ्री नंबर 1800-3456-624 एवं 06252-242418 पर संपर्क करें।

कोरोना काल में इन उचित व्यवहारों का करें पालन
- एल्कोहल आधारित सैनिटाइजर का प्रयोग करें।
- सार्वजनिक जगहों पर हमेशा फेस कवर या मास्क पहनें।
- अपने हाथ को साबुन व पानी से लगातार धोएं।
- आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें।
- छींकते या खांसते वक्त मुंह को रूमाल से ढकें।

live

हमारे बारें में जानें

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages