स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव ने वीसी द्वारा की डीएम के साथ वार्ता - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव ने वीसी द्वारा की डीएम के साथ वार्ता

Share This

- होम आइसोलेशन वाले व्यक्तियों का विशेष ध्यान रखने का दिया निर्देश 
- 93 से कम ऑक्सीजन लेवल वाले को कोविड सेंटर में करें शिफ्ट  


मोतिहारी 21 मई 21  
प्रिंस कुमार 
अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य विभाग, बिहार के द्वारा वीसी (विडियो कांफेर्न्सिंग) के माध्यम से पूर्वी चंपारण के जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक के साथ कोरोना संक्रमण की रोकथाम की तैयारियों की समीक्षा बैठक की गयी। बैठक में अपर मुख्य सचिव ने कहा होम आइसोलेशन में रहने वाले व्यक्तियों के स्वास्थ्य की निगरानी एच आई टी एप्स से करते हुए टेंपरेचर एवं ऑक्सीजन लेवल को ऐप पर एंट्री किया जाए। यदि ऑक्सीजन लेवल 93 से कम होता है उसे डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में शिफ्ट किया जाए। होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को मेडिकल किट मिले, यह सुनिश्चित किया जाए। कंट्रोल रूम से लगातार होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों की जानकारी प्राप्त की जाए। उन्होंने कहा बाढ़ कार्य से जुड़े सभी पदाधिकारी, एवं कर्मचारियों को टीकाकरण अवश्य कराया जाय। तथा बाढ़ वाले इलाकों में टीकाकरण पर ध्यान देने देने की आवश्कता है।
 अपर मुख्य सचिव ने सामुदायिक किचन को सुचारू रूप से चलाने एवं भोजन की क्वालिटी अच्छी रखने, सफाई एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए । उन्होंने कहा - बाढ़ वाले इलाके में कैंप लगाकर सभी परिवारों का वैक्सीनेशन कराया जाए। सदर हॉस्पिटल में सीटी स्कैन एवं एक्स रे मशीन की इंस्टॉलेशन 15 दिनों के अंदर करा लिया जाए। उन्होंने कहा कोरोना टेस्टिंग का रिपोर्ट को पोर्टल पर अपलोड कराया जाए। 1 मार्च से 20मई तक जितने भी एंटीजन टेस्ट हुआ है उसको पोर्टल पर अवश्य अपलोड कराया जाए।

 टेस्ट की संख्या बढ़ाने के निर्देश: 

अपर मुख्य सचिव ने कहा कि सरकार द्वारा एंबुलेंस तथा प्राइवेट हॉस्पिटल्स में इलाज कराने हेतु दर निर्धारित किए गए हैं। इसकी नियमित समीक्षा तथा देखरेख की आवश्यकता है। एंबुलेंस की जितनी भी आवश्यकता है एंबुलेंस भाड़े पर रखा जाए, इसमें कोताही ना किया जाए। होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को दवाई किट दिया जा रहा है या नहीं इसकी मॉनिटरिंग कंट्रोल रूम से की जाए। हर टेस्ट सेंटर पर मेडिसिन किट रखा जाए जैसे टेस्ट में कोई पॉजिटिव आता है उन्हें मेडिसिन कीट उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि 7:00 से 10 बजे के बीच दुकानें खुलती है जैसे सब्जी की दुकान है वहां पर टेस्ट कैम्प लगाया जाए तथा लोगों का टेस्ट किया जाए। टेस्टिंग का डाटा एंट्री कराना सुनिश्चित किया जाए। कंट्रोल रूम से आइसोलेशन में रहने वाले लोगों को फोन कॉल के द्वारा उनके बारे में जानकारी ली जाए।
इस बैठक में जिलाधिकारी के साथ सिविल सर्जन,अपर समाहर्ता, अपर समाहर्ता आपदा प्रबंधन एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

live

हमारे बारें में जानें

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages