केयर इंडिया द्वारा जीएनएम को ऑक्सीजन सपोर्ट सिस्टम का प्रशिक्षण - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

केयर इंडिया द्वारा जीएनएम को ऑक्सीजन सपोर्ट सिस्टम का प्रशिक्षण

Share This
- होम आइसोलेटेड ट्रैकिंग मोबाइल एप के साथ कोविड प्रोटोकॉल की दी गई जानकारी 

मोतिहारी,21 मई । 

प्रिंस कुमार 

पूर्वी चम्पारण के अनुमंडलीय अस्पताल चकिया के सभागार में उपाधीक्षक डॉ चंदन कुमार की अध्यक्षता में केयर इंडिया के सहयोग से जीएनएम का ऑक्सीजन सपोर्ट सिस्टम के साथ कोविड प्रोटोकॉल का प्रशिक्षण सम्पन्न हुआ । 
केयर इंडिया की एनएमएस अनुष्का कुमारी द्वारा अस्पताल के सभी जीएनएम को कोविड प्रोटोकॉल, पीपीई किट, ऑक्सीजन सपोर्ट सिस्टम, के उपयोग के लिए प्रशिक्षण दिया गया । प्रशिक्षण के दौरान अनुष्का ने बताया कि किन परिस्थितियों में कोविड मरीजों को ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है? किस मरीज को कितना ऑक्सीजन दिया जायेगा?  मरीजों के साथ किस प्रकार से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन कर खुद भी सुरक्षित रहें , इस प्रकार की कई महत्वपूर्ण बातें   बतायी गयी। यदि मरीज का ऑक्सीजन लेवल 90-94 तक है तो 2-6 लीटर प्रति मिनट नेजल कैनुला के द्वारा। अगर मरीज का ऑक्सीजन लेवल 80-90 के बीच है तो 6-10 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन मास्क के द्वारा दिया जायेगा। पीपीई किट के बारे मे बताया गया कि कैसे पहनना है ? एवं कैसे निकालना है? निकालने के बाद कैसे उसको कैसे डिस्पोज करते हैं? इसके बारे में  बताया गया।ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर से नेबुलाइजर के द्वारा मरीज को ऑक्सीजन कैसे दे सकते हैं ?इसके बारे में बताया गया।
 अनुमंडलीय अस्पताल चकिया में उपाधीक्षक डॉ चन्दन कुमार ने कहा कि जीएनएम को कोविड प्रोटोकॉल व ऑक्सीजन सपोर्ट की जानकारी होना बेहद जरूरी है , क्योंकि अब शहरों के बाद ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना का ज्यादा असर बढ़ रहा है । इस प्रकार कोरोना महामारी के असर से लोगों को बचाने के लिए नर्सिंग स्टाफ, जीएनएम, एएनएम का प्रशिक्षण सुरक्षा की दृष्टि से आवश्यक है । उन्होंने बताया कि सरकार के निर्देश अनुसार एच् आईं टी  (होम आइसोलेटेड ट्रैकिंग)मोबाइल एप का प्रशिक्षण भी कराया जा चुका है । इस प्रशिक्षण में बताया गया कि सभी
 एएनएम अपने-अपने क्षेत्र में कोविड पॉजिटिव मरीजो की ट्रैकिंग कर उसके स्वास्थ्य की जांच करेंगी। जांच के दौरान अगर रोगी में कोई गंभीर लक्षण जैसे ऑक्सीजन लेवल 94 से कम होता है तो तत्काल कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराएंगी। इस एप से रियल टाइम डेटा ब्लॉक स्तर से लेकर जिला एवं राज्य स्तर पर भी देखा जा सकेगा। चकिया अनुमंडलीय अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ चन्दन कुमार ने कहा कि जिले में बढ़ रहे  कोविड के मामलों के बीच कोरोना की रोकथाम के लिए जाँच का दायरा बढ़ाना होगा । यह तभी संभव हो पायेगा जब एएनएम अपने अपने क्षेत्रों में घूमकर कोविड पॉजिटिव मरीजों की ट्रेकिंग कर उसके स्वास्थ्य की जाँच करें । वही जाँच के दौरान अगर किसी का ऑक्सीजन लेवल कम दिखाई दे, कोई गंभीर लक्षण दिखे या अगर ऑक्सीजन लेवल 94 से कम हो तो उसे तत्काल कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराएँ। उन्होंने बताया कि एच आई टी एप से होम आइसोलेट व अन्य कोरोना पाॅजिटिव मरीजों की ट्रेकिंग भी आसान होगी । अस्पताल उपाधीक्षक ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर काफी संक्रामक है। इससे बचने के लिए सभी को साफ -सफाई के साथ कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना होगा । इसमें सभी लोगों का टीकाकरण बेहद आवश्यक है । टीकाकरण द्वारा लोग सुरक्षित हो रहे हैं । डॉ चन्दन कुमार ने निर्देशित किया कि अस्पताल की पूरी साफ सफाई हो । जाँच एवं टीकाकरण में सोशल डिस्टेंसिंग का मुख्य रुप से पालन करने की भी बात कही। टीकाकरण के साथ ही कोविड का अधिक से अधिक जाँच करने के भी निर्देश दिए ताकि कोविड संक्रमण की चेन को तोड़ने में सफलता मिल सके। उन्होंने कहा कि कोविड मरीजों का विशेष ख्याल रखें । गम्भीर मरीजों को तुरंत रेफर करें । सदर अस्पताल व जिला कंट्रोल से सम्पर्क बनाकर रखें । साथ ही अस्पताल अधीक्षक ने  कहा कि  अगर कोई भी स्वास्थ्य कर्मी अपने कार्य से अनुपस्थित पाए जाएंगे तो उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी । 
 प्रखंड के स्वास्थ्य केन्दों पर  उपलब्ध दवाओ के अलावा बाकी अन्य दवाओं को अविलम्ब क्रय करने का आदेश दिया गया है।साथ ही यह भी निर्देश दिया है कि बाहर से आनेवाले सभी लोगों की कोविड की जाँच की जाए एवं मरीज को किसी प्रकार की तकलीफ होने पर उन्हें तुरन्त रेफर किया जाय । 

साफ सफाई के दिए निर्देश : अस्पताल प्रभारी को अस्पताल के प्रसव कक्ष , अस्पताल परिसर, ओटी, परिसर की पूरी साफ सफाई की जाय। उन्होंने कहा  के लोगों क कोविड टीकाकरण करने मे  मास्क लगाना, बार - बार हाथ धोना और हमेशा उचित दूरी का पालन करना बेहद आवश्यक है ।

मौके पर  प्रशिक्षण कार्यक्रम में उपाधीक्षक डॉ चन्दन कुमार,
बी सी एम धर्मेंद्र कुमार, बी एम सी यूनिसेफ सुजीत कुमार दीपक, शंकर कुमार सुमन , जीएनएम  संजू कुमारी चौधरी, निशि कुमारी, चंद्रमाला चंद्रभान,सोनम कुमारी, प्रभावती कुमारी, प्रतिमा कुमारी, कोमल कुमारी, सोनी कुमारी व अन्य स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित थे।

कोविड 19 से बचने के लिए निम्न बातों का पालन आवश्यक है :

एल्कोहल आधारित सैनिटाइजर का प्रयोग करें।
- सार्वजनिक जगहों पर हमेशा फेस कवर या मास्क पहनें।
- अपने हाथ को साबुन व पानी से लगातार धोएं।
- आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें।
- छींकते या खांसते वक्त मुंह को रूमाल से ढकें।

live

हमारे बारें में जानें

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages