अपराध के खबरें

पिपराही में क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक, अनुमंडल पदाधिकारी हुए शामिल

प्रिंस कुमार 

शिवहर, 29 मई। 
पिपराही प्रखंड के कमरौली पंचायत के अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में मुखिया अख्तर मियां की अध्यक्षता में कोविड-19 क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक आयोजित हुई। जिसमें अनुमंडल पदाधिकारी मोहम्मद इश्तियाक अली अंसारी ने भाग लिया है। बैठक में लोगों के कोरोना जांच कराने, टीकाकरण कार्य में तेजी लाने, होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को हिट एप के माध्यम से अनुश्रवण करने, मास्क वितरण इत्यादि के संबंध में चर्चा की गई है। अनुमंडल पदाधिकारी ने लोगों से अपील किया कि टीकाकरण अभियान में जरूर भाग लें, कोरोना की जांच कराएं तथा घर से निकलने पर मास्क पहने। बैठक में प्रखंड विकास पदाधिकारी पिपराही वासिक हुसैन, अख्तर मियां मुखिया कमरौली पंचायत, आशा कार्यकर्ता, सेविका, सहायिका ,जन वितरण प्रणाली विक्रेता इत्यादि उपस्थित थे।

क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी ने संक्रमण की रफ्तार रोकी

जिला प्रशासन की ओर से हर पंचायत में बनाई गई क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी के प्रयास से न सिर्फ संक्रमण की रफ्तार रोकने में मदद मिली है, बल्कि जिले की मृत्यु दर एक फीसद से भी कम है। कोरोना की दूसरी लहर की शुरुआत हुई तो जिलाधिकारी ने जिले की सभी 53 पंचायतों के अलावा शिवहर शहर के लिए क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी का गठन किया। इसमें नर्स, आशा, एएनएम, सेविका, सहायिका, ग्रामीण चिकित्सक के अलावा वालंटियर, मुखिया, सरपंच, पंच व वार्ड सदस्य शामिल हैं। टीम घर-घर जांच और इलाज करती है। 

एक्टिव केस मात्र 349 रह गए

वर्तमान में जिले का संक्रमण दर 1.39 फीसद है। जो कि राज्य से कम है। 28 मई तक जिले में कुल चार हजार 296 संक्रमितों में से महज 15 लोगों की मौत हुई है। 3903 स्वस्थ हो चुके हैं। 349 केस एक्टिव रह गए हैं। जांच में जिला काफी आगे है। साढ़े छह लाख की आबादी वाले जिले में कुल तीन लाख आठ हजार 764 लोगों की कोरोना जांच की गई है। यह आंकड़ा तकरीबन 49 फीसद है। इस समय रोजाना तकरीबन डेढ़ हजार जांच की जा रही है। सिविल सर्जन डॉ. आरपी सिंह ने कहा कि लोगों का सहयोग इसी तरह जारी रहा तो हम जल्द कोरोना से मुक्ति पा लेंगे।

live