अपराध के खबरें

कोरोना मरीजों के इलाज में प्रशिक्षित ग्रामीण स्वास्थ्य कार्यकर्ता अपनी सेवा देंगे

- निदेशक प्रमुख ( रोग नियंत्रण) स्वास्थ्य सेवाएं बिहार ने आदेशित किया

शिवहर,19 मई।

प्रिंस कुमार 
डॉ नवीन चंद्र प्रसाद निदेशक प्रमुख ( रोग नियंत्रण) स्वास्थ्य सेवाएं बिहार ने आदेशित किया है कि शिवहर जिला के ग्रामीण क्षेत्रों में संभावित कोविड 19 मरीजों की पहचान एवं होम आइसोलेशन में इलाज में सहयोग हेतु प्रशिक्षित ग्रामीण स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की सेवा ली जा सकती है। इस संबंध में सिविल सर्जन डॉ राजदेव प्रसाद सिंह को पत्र भेजा गया है। राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान के द्वारा जिले के अप्रशिक्षित ग्रामीण स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को जन स्वास्थ्य पाठ्यक्रम के तहत प्रशिक्षण प्रदान करने का कार्यक्रम संचालित हो रहा है। प्रशिक्षित ग्रामीण स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की सेवा ग्रामीण क्षेत्र अंतर्गत प्रथम सूचक एवं ट्रीटमेंट सपोर्टर के रूप में प्राप्त करने का आदेशित किया गया है।

स्वास्थ्य कार्यकर्ता मरीजों की पहचान करेंगे 

प्रशिक्षित ग्रामीण स्वास्थ्य कार्यकर्ता मरीजों की पहचान करेंगे एवं उनकी जांच कराने हेतु नजदीकी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को उपलब्ध कराएंगे। जांच उपरांत अगर पॉजिटिव पाए गए तो मरीज को होम आइसोलेशन के दौरान ट्रैकिंग एवं उनका जिला नियंत्रण कक्ष के साथ समन्वय स्थापित करेंगे एवं गंभीर मरीजों के संबंध में यथाशीघ्र डीसीएचसी में भर्ती कराने हेतु सूचना देंगे एवं आउटकम रिपोर्टिंग की जाएगी।

प्रति मरीज 200 का भुगतान भी किया जाएगा- 

इस बाबत संपूर्ण कार्य को संपन्न किए जाने के उपरांत प्रति मरीज 200 रुपये का समेकित भुगतान भी किया जाना सुनिश्चित किया गया है। उपरोक्त लाभ सूचक -सह- ट्रीटमेंट सपोर्टर को राशि का भुगतान सीधे खाता अंतर लाभ (डीबीटी) के माध्यम से आधार कार्ड से लिंक बैंक खाते में किया जाएगा।गौरतलब है कि शिवहर जिले में 55 ग्रामीण चिकित्सक एनआईओएस से प्रशिक्षित हैं। शिवहर जिला में भी जिला पदाधिकारी सज्जन राज शेखर के माध्यम से प्रशिक्षण प्राप्त किया जा चुका है।

live