जिन्होंने शुरुआती लक्षणों को किया दरकिनार, वही कोरोना के निकल रहे गंभीर बीमार - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

जिन्होंने शुरुआती लक्षणों को किया दरकिनार, वही कोरोना के निकल रहे गंभीर बीमार

Share This
- वैक्सीन लगवाने वाले लोगों में गंभीर मामले की संभावना कम 
- बाहर निकलने पर मास्क का उचित उपयोग करें

प्रिंस कुमार 

शिवहर, 1 मई।

अपने आस-पास देखिए। जितने भी कोरोना से मर्माहत हुए हैं, जिंदगी मौत से जूझ रहे हैं। इनमें से अधिकतर लोगों ने या तो कोरोना के शुरुआती लक्षण को दरकिनार किया या फिर, कोरोना के अनुरुप नियमों का पालन नहीं किया। हमारी हर एक छोटी सी लापरवाही दिन ब दिन और वृहत रूप ले सकती है। यह बातें थोड़ी कड़वी है पर हम इसे थोड़ी सी सावधानी और धैर्य से रोक सकते हैं। डब्ल्यूएचओ ने भी कोरोना के प्रसार और गंभीर मामलों में वृदि्ध न हो इसके लिए चार नियम बताए हैं जिन्हें कर हम खुद तो कोरोना के संक्रमण से बच ही सकते हैं, अपने आस -पास को भी संक्रमणमुक्त रख सकते हैं। 
बाहर जाएं तो मास्क लगाएं
कोरोना संक्रमण की यह दूसरी लहर है। ऐसे में हम सब पहले से ही अवगत हैं कि संक्रमण से बचाव में मास्क सबसे बेहतर हथियार है। ऐसे में हम जब भी घर से बाहर या काम पर भी निकलें तो मास्क का प्रयोग जरूर करें। मास्क लगाने के साथ ही इसे ठीक तरह से पहनने के नियमों का भी हमें पालन करना होगा। मास्क को पहनने के बाद साफ करना। ठीक से उतारना और हाथ साफ करना बिल्कुल न भूलें। 
लक्षण दिखते ही खुद को करें पृथक
कोरोना के शुरुआती लक्षणों में बुखार आना, नाक बहना, खांसी, दस्त, गंध और स्वाद का चला जाना और सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। अगर आपमें इसमें से कोई भी लक्षण दिखे तो अपने आप को परिवार से अलग कर लें। लोगों के संपर्क में बिल्कुल न आएं। पर्याप्त आराम करें। दवाई लें। वहीं तुरंत ही कोविड की जांच कराएं। ऐसा करने से आप और आपके शुभचितंक दोनों ही स्वस्थ्य रहेंगे । 
कोविड संक्रमित होने पर घबराएं नहीं
कोविड संक्रमण के अधिकतर मामलों में होम आइसोलेशन की बदौलत ही लोग ठीक हुए हैं। कुछ प्रतिशत लोगों को ही अस्पताल या ऑक्सीजन की जरूरत महसूस होती है। प्रत्येक सरकारी अस्पताल से जांच कराने के उपरांत कुछ दवाइयों का किट दिया जाता है। जिसे आप एहतियातन ले सकते हैं। कोविड होने पर घबराएं नहीं। पॉजिटिव सोचें। निगेटिव खबरों से दूर रहें। योग, ध्यान का सहारा लें। अच्छे विचारों वाले पुस्तक या धर्मग्रंथ पढ़ें। निश्चित ही आप कोविड को मात देने में सक्षम होंगे । 
अपनी बारी आने पर वैक्सीन जरूर लें
कोरोना के शुरुआती समय से ही इसकी वैक्सीन बहुप्रतिक्षित थी। ऐसे में जब यह आ गयी है तो इसे अवश्य लें। इसे लेने में किसी तरह का भ्रम बिल्कुल न पालें। यह बात सत्यापित हो चुकी है कि जिन्होंने भी कोरोना की वैक्सीन ली उन्हें संक्रमण के गंभीर लक्षणों से रुबरु नहीं होना पड़ा है और जल्द ही वह संक्रमण को मात देने में कामयाब हुए हैं। इसलिए एक बेहतर कल और हंसती-खेलती दुनिया के लिए डब्ल्यूएचओ की इन चार बातों को अपने जीवन में जरूर उतारें।

No comments:

Post a comment

live

Post Bottom Ad

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages