अपराध के खबरें

नदी में बच्चे के डूबने से मरनाशरण स्थिति में चिकित्सकों ने बचाया

डॉक्टर भगवान का दूसरा रूप है यह कारनामा कर दिखाया डॉक्टर इमरान मेहंदी ने


प्रिंस कुमार 

 शिवहर ---पिपराही प्रखंड क्षेत्र के बुजुर्गों द्वारा यह कहा जाता है कि डॉक्टर भगवान का दूसरा रूप होता है ।यह कारनामा कर दिखाया डॉक्टर इमरान मेहंदी ने। 
रविवार के रोज पुरनहिया प्रखंड क्षेत्र ग्राम कटैया निवासी दामोदर पासवान के 13 वर्षीय पुत्र रविकुमार रविवार को दोपहर में नदी में नहाने के क्रम में डूब गया इस कारण बाद में आसपास के लोगों के द्वारा शोर मचाकर नदी से बच्चों को निकाला गया डूबने के कारण परिजनों के द्वारा बच्चे को मरणास्सन अवस्था में पिपराही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहां पर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा रामा शंकर साह के द्वारा गठित टीम कोविड-19 नोडल पदाधिकारी डॉक्टर इमरान मेहंदी, एनम पुष्प लता कुमारी, कुंती कुमारी, अति शीघ्र बच्चे को बचाने के लिए उपचार में लग गए ।
कड़ी मेहनत से घंटो उपचार के बाद बच्चे को होश आया। इसके बाद परिजनों ने डॉक्टर इमरान मेहंदी को बोला कि आप डॉक्टर नहीं मेरे लिए भगवान है आपने मेरे पुत्र की जान बचा ली ।
इस संबंध में डॉक्टर इमरान मेहंदी से पूछे जाने पर बताया कि जिस वक्त बच्चे को यहां पर लाया गया वह मरणास्सन अवस्था में था अगर हम बच्चे को कहीं रेफर करते तो इस अवस्था में बच्चे को बचाना मुश्किल हो जाता ।
परिजनों का रो रो कर बुरा हाल था मैंने तुरंत बच्चे को एडमिट कर अपनी पूरी टीम को बच्चे के उपचार में लगा दिया घंटों उपचार एवं अथक परिश्रम के बाद बच्चे को होश आया अब वह खतरे से बाहर है । हम तो अपना कर्तव्य निभाते हैं बाकी जिंदगी और मौत तो ऊपर वाले के हाथ में होता है ।आज के सफलता के लिए हम अपनी पूरी स्वास्थ्य विभाग की टीम का शुक्रिया अदा करते हैं।

live