चिराग अभी बुझा नहीं है, पांच सांसदों को किया बाहर - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

चिराग अभी बुझा नहीं है, पांच सांसदों को किया बाहर

Share This
अनूप नारायण सिंह 

सत्ता सियासत राजनीति तीनों एक दूसरे के पर्यायवाची है विरासत एक नया पर्यायवाची बना है राजनीति में विरासत शब्द तेजी से समानांतर हो गया है इस विरासत के चक्रव्यू का शिकार भले चिराग पासवान हुए हो पर इसका कई नजारा देश दुनिया ने पहले भी देखा है किसी बड़े राजनेता के निधन के बाद उसकी विरासत संभालने वाले लोग उसके उस वर्चस्व को कायम नहीं रख पाते जो उसके पिता ने उसे विरासत में दी थी चिराग तो अभी नए है बिहार में कई सारे राजनीतिक परिवारों के उतराधिकारियों का यही हाल होने वाला है आने वाले समय में। राजनीति में आने वाला हर व्यक्ति पीएम और सीएम ही बनना चाहता है वह वर्षों तक भले ही किसी का झोला ढोए पर उसकी गिद्ध दृष्टि उस कुर्सी पर लगी होती है जिसे खाली होते ही किसी भी तरह से वह हथिया लेना चाहता है पशुपति पारस ने अपने भाई की विरासत पर धावा बोलकर कुछ बड़ा उलटफेर नहीं किया है यह तो सदियों से होता आया है यहां कुछ भी नया नहीं है अब वक्त तय करेगा कि चिराग निखरते हैं या बिखरते हैं। लेकिन चिराग के करीबी और पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव अब्दुल खालिक ने बैठक में लिये गए फैसले के बारे में मीडिया को बागी सांसदों को लोजपा से निकाले जाने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बागी सांसदों की पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी खत्म कर दी गई है। बैठक में सर्वसम्मति से राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के नेतृत्व में अगले साल यूपी, गोवा, उत्तराखंड व पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव लडऩे की भी फैसला लिया गया।

live

हमारे बारें में जानें

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages