समस्तीपुर डीएम ने की मोहनपुर प्रखंड में बाढ़ से पूर्व तैयारी से सम्बंधित समीक्षा बैठक - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

समस्तीपुर डीएम ने की मोहनपुर प्रखंड में बाढ़ से पूर्व तैयारी से सम्बंधित समीक्षा बैठक

Share This
बैठक के बाद डीएम ने किया मोहनपुर प्रखंड के संभावित बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का किया निरीक्षण

तुफैल अहमद / समस्तीपुर 

मिथिला हिन्दी न्यूज़ (समस्तीपुर) - समस्तीपुर के डीएम शशांक शुभंकर द्वारा ज़िले में बाढ़ से पूर्व तैयारी को लेकर पटोरी अनुमंडल अंतर्गत मोहनपुर प्रखंड कार्यालय में समीक्षा बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में अपर समाहर्ता समस्तीपुर, अनुमंडल पदाधिकारी पटोरी ,अंचल अधिकारी , प्रखंड विकास पदाधिकारी,एवं प्रखंड स्थित बाढ प्रभावित पंचायतों के मुखिया उपस्थित थे। बैठक में डीएम श्री शुभंकर द्वारा निर्देश दिया गया कि प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी को संयुक्त रूप से निर्देश दिया गया कि बाढ़ जैसे आपदा के समय में राहत केंद्र, कम्युनिटी किचन, पशु चारा की व्यवस्था हेतु तैयारी अभी से करना सुनिश्चित करेंगे। सभी नोडल प्रभारी पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि जनप्रतिनिधियों यथा मुखिया, विपक्षी मुखिया, सरपंच, वार्ड सदस्य के साथ एक बैठक कर ले और बैठक में *कम्युनिटी किचन चलाना और राहत केंद्र के स्थल का चयन* करना सुनिश्चित करेंगे। *रसोइया, नाविक, कर्मीगण* एवं नोडल पदाधिकारी बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में कार्यरत रहेंगे उनका अगले तीन दिनों के अंदर वैक्सीनेशन कराया जायेगा। प्रखंड अंतर्गत आपदा प्रबंधन, प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अंचल अधिकारी की पूर्णत: जिम्मेवारी होगी। *पशु राहत स्थल* प्रखंड स्तरीय पशुपालन पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि बाढ़ प्रभावित पंचायत में मुखिया एवं विपक्षी मुखिया के साथ एक बैठक कर पशु राहत स्थल का चयन करना सुनिश्चित कर लेंगे। प्रखंड स्थित सभी पंचायतों में एक सप्ताह के अंदर भ्रमण कर लेना सुनिश्चित करेंगे। बाढ़ के समय में किसी भी प्रकार की शिकायत आती है जैसे खाना खराब है, चापाकल नहीं है, आदि प्रकार की तो इसकी जिम्मेवारी नोडल प्रभारी पदाधिकारी अंचलाधिकारी एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी की होगी। डीएम द्वारा निर्देश दिया गया कि सभी पंजियों को अद्यतन कर लें। बाढ़ के समय *राहत केंद्रों में भोजन का समय दोपहर 12:30 बजे एवं शाम 7:30 बजे* होगा। नाव परिचालन प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी के माध्यम से होगी, सभी नावों पर लाल झंडा लगवाना सुनिश्चित करेंगे। कम्युनिटी किचन के लिए जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि अंचल अधिकारी और पंचायत के नोडल पदाधिकारी ग्रामीण लोगों से मिल कर जहां अत्यधिक लोगों की मांग हो उसी जगह को कम्युनिटी किचेन के लिए जगह चयनित करेंगे। बाढ़ राहत केंद्र के स्थल चयन के लिए डीएम द्वारा निर्देशित किया गया कि अगर सरकारी जगह नही है,तो किसी प्राइवेट स्कूल, या भवन को भी चयन किया जा सकता है। इस समीक्षा बैठक की जानकारी प्रभारी जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी ऋषव राज ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दी है।

live

हमारे बारें में जानें

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages