बिहार की बेटी निशु सिंह ने रचा इतिहास - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

बिहार की बेटी निशु सिंह ने रचा इतिहास

Share This
अनूप नारायण सिंह

मिथिला हिन्दी न्यूज :- विषम परिस्थितियों में इतिहास रचना देश और प्रदेश की बेटियों का शगल रहा है इसी कड़ी में बिहार के जमुई जिले की बेटी निशु सिंह ने पर्वतारोहण के क्षेत्र में नया इतिहास रचा है।जमुई जिले के एक छोटे से गांव से आने वाली निशु सिंह ने एक बार फिर पर्वतारोहण में अपना नाम रोशन किया है. निशु के पिता एक निजी बैंक में गन मैन की साधारण नौकरी करते हैं. निशु सिंह ने इस बार हिमाचल प्रदेश के मनाली माउंट फ्रेंडशिप पीक समिट में सफलता पाते हुए 16262 फीट ऊंचाई पर चढ़ कर तिरंगा लहराया है.जमुई की बेटी निशु सिंह का नया रिकॉर्ड, माउंट फ्रेंडशिप चोटी पर फहराया तिरंगा।निशु सिंह ने माउंट फ्रेंडशिप पीक पर 16 हजार फ़ीट से अधिक ऊंचाई पर चढ़ाई कर देश की शान तिरंगा लहरा कर अपने गांव, समाज परिवार का नाम रोशन किया है. वह जमुई जिले के बरहट प्रखंड इलाके के टेंगहरा गांव की रहने वाली हैं.जमुई की बेटी निशु सिंह का नया रिकॉर्ड, माउंट फ्रेंडशिप चोटी पर फहराया है तिरंगा निशु सिंह ने माउंट फ्रेंडशिप की 16262 ऊंची चोटी पर फहराया है तिरंगा।जमुई जिले के एक छोटे से गांव से आने वाली निशु सिंह ने एक बार फिर पर्वतारोहण में अपना नाम रोशन किया है. निशु के पिता एक निजी बैंक में गन मैन की साधारण नौकरी करते हैं. निशु सिंह ने इस बार हिमाचल प्रदेश के मनाली माउंट फ्रेंडशिप पीक समिट में सफलता पाते हुए 16262 फीट ऊंचाई पर चढ़ कर तिरंगा लहराया है.बीते 22 जून को निशु सिंह ने माउंट फ्रेंडशिप पीक पर 16 हजार फ़ीट से अधिक ऊंचाई पर चढ़ाई कर देश की शान तिरंगा लहरा कर अपने गांव, समाज परिवार का नाम रोशन किया है. वह जमुई जिले के बरहट प्रखंड इलाके के टेंगहरा गांव की रहने वाली हैं. बचपन से ऊंचाइयों पर चढ़ाई करने के लिए पर्वतारोही के रूप में अपनी मेहनत और लगन के बल पर पहचान बना चुकी है. हाल ही में बीते 22 अप्रैल को निशु सिंह अफ्रीका के सबसे ऊंची चोटी माउंट किलिमंजारो पर तिरंगा लहराया था. इससे पहले भी पर्वतारोही निशु देश की 10 ऊंचे पर्वत पर चढ़ाई कर चुकी हैं.
निशु सिंह का पूरा परिवार छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में रहता है. उनके पिता विपिन कुमार सिंह सीआरपीएफ में सिपाही रह चुके हैं और वह फिलहाल वहां एक नहीं निजी बैंक में गनमैन के रूप में काम करते हैं. परिवार की आर्थिक कमजोरी और तमाम परेशानियों को पीछे छोड़ निशू लगातार सफलता की ऊंचाइयों को छू रही है, जिससे उसके गांव वाले खुश हैं. पर्वतारोही निशु सिंह का कहना है कि उनका लक्ष्य है कि वो माउंट एवरेस्ट पर चढ़कर तिरंगा लहराकर सबका नाम रौशन करुं.

live

हमारे बारें में जानें

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages