अपराध के खबरें

डाक विभाग का विशेष अभियान : देश के सैनिकों और भाईयों के नाम भेजें राखीरक्षा बंधन के दिन भी देर रात तक डाकिया करेंगे राखी एवं पत्रों का वितरण : डाक अधीक्षक


आलोक वर्मा 
नवादा : प्रधान डाकघर नवादा में बहनों के लिए लगाया गया है एक विशेष रक्षा बंधन सेल्फी पॉइंट। डाकघर से भाइयों एवं देश के सेनाओं को राखी भेजने एवं अपनी सेल्फी लेने का इन्तेजाम किया गया है। डाकघर और इसकी सेवाएँ अब लोगों की आवश्यकताओं का प्रमुख अंग बन गया है। भारतीय डाक केंद्र सरकार का एक अकेला इकाई है, जो देश के सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित जन-समूह की भावनाओं को स्पर्श करता है एवं अपनी विभिन्न सेवाएँ सुचारू रूप से पहुँचाता है। आम जनता के विभिन्न दिनचर्या को प्रभावित करते हुए डाकघर आज इतना लोकप्रिय हो चूका है कि लोगों का भरोसा और विश्वास दिन-प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। डाकघर लोगों की आवश्यकतओंको पुरा करने के लिए हर समय तत्पर रहता है ।इस कोरोना महामारी में भी सावन माह के प्रसिद्ध भाई-बहन के त्यौहार “रक्षाबन्धन” पर बिहार परिमंडल द्वारा “वाटरप्रूफ राखी लिफाफा” उपलब्ध कराया जा रहा है। घर बैठे बहन अपने प्यारे भाई को इस अवसर पर राखी भेज सकती हैं। हमारा डाक विभाग अपने सभी पोस्टमैन के माध्यम से बहनों के इस प्यार भरे बंधन को उनके भाई तक पहुचाने में अहम भूमिका निभा रहा है । इस अवसर पर विशेष बैग, प्रेषण की विशेष व्यवस्था का प्रबंधन कर इनके माध्यम से देर रात तक तथा अवकाश के दिनों में भी इसके वितरण को शत-प्रतिशत सुनिश्चित किया जा रहा है l इसके साथ-ही सभी तरह के पार्सल की भी डिलीवरी देर रात तक की जाएगी। जगह -जगह पर राखी स्टॉल लगाकर “वाटरप्रूफ राखी लिफाफा” की सुविधा लोगों को उपलब्ध करायी जा रही है। नवादा जिले के सभी डाकघरों में वीर-सैनिकों को भेंट स्वरुप विशेष “पत्र-पेटी” का प्रबंधन किया गया है। जिसके माध्यम से हमारे वीर-सैनिकों को राखी उनके कार्य स्थल अर्थात बॉर्डर, किसी भी बटालियन या  कैंप  तक पहुचाया जाएगा।
डाक अधीक्षक नवादा शिव शंकर मण्डल ने इस अभियान को जन आंदोलन बनाने का आह्वान किया है।उन्होने बताया कि जिले के सभी डाकघरों में कोई भी बहन, सामाजसेवी ,आम नागरिक, स्वयं सेवी संस्था, देश प्रेमी इत्यादि राखी को देश के सैनिको के नाम भेज सकते है। बस इसके लिए राखी के लिफाफे को जिले के किसी भी डाकघर में जा कर जमा कर सकते है। हम उस राखी को देश के सैनिको तक पहुंचायेँगे। इसके लिए मात्र टिकट के रूप में मात्र 5/- रुपए ही लगेंगे और वाटर प्रूफ लिफाफा के लिए मात्र 10/- रुपए। यानि मात्र 15 रुपए में हम देश के वार्डर पर खड़े, उन जाबाज सैनिको तक राखी पहुंचाएगे। देश के सैनिक ही है ,जिनकी कर्तव्यनिष्ठा और कठोर तप का नतीजा है कि आज हम चैन से सो रहे है। हम देशवाशियों का भी कर्तव्य है कि उन सैनिकों का मनोबल और हौसला बढ़ाएँ। 
इस अभियान को सफल बनाने के लिए एक टीम का भी गठन किया गया है। जिसमे सहायक डाक अधीक्षक धीरेंद्र कुमार धीरज, डाक निरीक्षक मनोरंजन कुमार, रामशीष कुमार, मार्केटिंग एक्सपर्ट जितेंद्र कुमार पूरे जोश से लगे हुये है। प्रधान डाकघर नवादा एवं सभी उपडाकघरों के उपडाकपाल को भी विशेष ज़िम्मेदारी दिया गया है ।
इस टीम ने बताया कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए प्रधानडाकघर एवं सभी उपडाकघरों में प्रतिदिन प्रथम तीन राखी बुक करने वाली बहनो को कुछ न कुछ गिफ्ट भी दिया जाएगा और रक्षाबंधन के उपरांत एक लॉटरी भी निकली जाएगी जिसके तहत कुछ बहनो को सम्मानित भी किया जाएगा | टीम ने बताया कि इसका उद्देश्य मात्र यह है कि डाक विभाग का यह प्रयास है कि देश के सैनिक भाइयों के कलाई खाली न रहे और साथ ही साथ देश प्रेम की भावना भी जागृत हो ।
इसके साथ साथ, सावन के पवित्र महीने को देखते हुए डाकघर द्वारा पूरे महीने ऋषिकेशऔर गंगोत्री के पवित्र गंगाजल का वितरण एवं विक्रय हर डाकघर से सुनिश्चित किया जा रहा है साथ ही साथ शिवालयों तथा मंदिरों में इसके लिए खास काउंटर भी लगाए जा रहे हैं। डाकघर रक्षाबंधन तथा शिव भक्तों को बेहतर सेवाएँ प्रदान करने हेतु दृढ प्रतिबद्ध है। सभी शाखा डाकघर, उप डाकघर और प्रधान डाकघर, बहन-भाई के इस त्यौहार में अपनी सहभागिता निभाने में तत्परता से काम कर रहे हैं । आप सभी डाक विभाग  कि इस योजना का लाभ उठाते हुए हमें  सेवा का अवसर प्रदान करें।
डाक अधीक्षक नवादा ने जिले के सभी स्वय सेवी संस्थाओं, महिला समूहों, अन्य संस्थाओं से भी अपील की है कि इस राखी पर देश के सैनिको का मनोबल ऊंचा करने में आप सभी अपनी अहम भूमिका अदा कर सकते है, तो यह अपील है कि भेजे राखी देश के वीर जबानों को और मनाएँ रक्षा बंधन देश के सैनिकों के साथ ।

live