अपराध के खबरें

बिहार में पंचायत चुनाव के लिए आयोग ने जारी किए सिंबल

संवाद 

मिथिला हिन्दी न्यूज :- बिहार में पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देने का काम शुरू कर दिया है। इसदिशा में आयोग की तरफ पंचायत चुनाव के छह पदों के लिए सिंबल जारी कर दी है। इनमें जहां मुखिया पद के लिए 36
चुनाव चिह्न बनाए गए हैं। चुनाव प्रत्याशियों को इन्हीं सिंबलों में से वितरण किया जाएगा। बता दें कि राज्य निर्वाचन आयोग पहले ही स्पष्ट कर चुका है बिहार पंचायत चुनाव राजनीतिक दलों के आधार पर नहीं होगा। ऐसे में किसी राजनीतिक पार्टी के
लिए अधिकृत सिंबल पंचायत चुनाव में इस्तेमाल नहीं किए जाएंगे।आयोग की ओर से एक गाइडलाइन जिले में भेजी गई है। इसके तहत सामाजिक दूरी, स्वच्छता व अन्य नियमों का अनुसरण करते हुए मुक्कमल तैयारी करने को कहा गया है। चुनाव में खड़े होने वाले प्रत्याशियों के लिए भी चुनाव चिह्न का निर्धारण कर
दिया गया है। 

मुखिया के लिए 36 चुनाव चिह्न आवंटित
मोर, गाजर, मोतियों की माला, ढोलक, कलम और दवात, पुल, ब्रश, कैमरा, चिमनी, ब्लैक बोर्ड, बाल्टी, सेव, केतली, काठ की गाड़ी, कुआं, ट्राफी, बैगन, छड़ी, मोबाइल, उगता हुआ सूरज, टेलिविजन, किताब, वायुयान, खजूर का पेड़, पपीता, ऊंट, जंजीर एवं सिटी समेत 36 चुनाव चिह्न आवंटित किया गया है।

वार्ड सदस्य के लिए 20 चुनाव चिह्न आवंटित
इस पद के उम्मीदवार के लिए पीपल का पत्ता, चश्मा, टेबल फैन, दिवाल घड़ी, स्कूटर, आम, चम्मच, घड़ा, कुल्हाड़ी, बकरी, रोड रोलर, नाव, कार, तबला, तितली सहित 20 चुनाव चिह्न आवंटित किया गया है।

पंचायत समिति सदस्य के लिए दस चुनाव चिह्न आवंटित
पंचायत समिति सदस्य पद के उम्मीदवार के लिए नारियल, चरपाई, कप प्लेट, डोली, कुदाल, जीप, गैस सिलेंडर, कंघा एवं फ्रॉक सहित दस चुनाव चिन्ह आवंटित किया गया है।

जिला परिषद सदस्य के लिए 20 चुनाव चिह्न आवंटित
जिला परिषद सदस्य का चुनाव लड़ने वालों के लिए पतंग, लेडी पर्स, लेटर बॉक्स, मक्का, रेल का इंजन, अंगूर का गुच्छा, स्लेट, मछली, सिलाई मशीन, प्रेशर कुकर, ताला और चाबी, टेबल का लैंप, हारमोनियम एवं जलता हुआ दिया सहित 20 चुनाव चिह्न आवंटित हुआ है।

सरपंच पद का भी चुनाव चिह्न रोचक
ग्राम कचहरी सरपंच पद के लिए जारी चुनाव चिह्न भी रोचक है। इस पद के उम्मीदवार को चौका बेलन, नल, बल्ब, जोड़ा बैल, बगुला, छाता, चरखा, पानी का जहाज, बांसुरी, हल एवं टमटम सहित अन्य चुनाव चिह्न आवंटित किया गया है।बता दें कि अगस्त से अक्टूबर तक बिहार में दस चरणों में पंचायत चुनाव होने हैं, जिसक लिए लेकर प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां शुरू हो गई.
एक सप्ताह के अंदर जिले में ईवीएम भी उपलब्ध हो जाएगा।

live