अपराध के खबरें

भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारियों की दृढ़ता, समर्पण, ईमानदारी और इस देश को एक संगठित और एकीकृत बनाए रखने में उनके योगदान की सराहना करना चाहता हूं : नित्यानन्द राय

माननीय प्रधानमंत्री जी की‘राष्ट्र पहले, सदैव पहले’और माननीय गृह मंत्री जी की न्यायपूर्ण कार्य और संवेदनशील पुलिस की मूल भावना से आप अच्छी तरह से अवगत हैं, मुझे विश्वास है कि आप उनकी आशा और अपेक्षाओं पर खरे उतरेंगे - नित्यानन्द राय

संवाद 

भारतीय पुलिस सेवा (IPS) के 72वें बेच के परिवीक्षाधीन अधिकारियों की आज हैदराबाद स्थित सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में पासिंग आउट परेड हुई। इस अवसर पर केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री श्री नित्यानंद राय मुख्य अतिथि थे। कार्यक्रम में राष्ट्रीय पुलिस अकादमी के निदेशक श्री अतुल करवल और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल हुए ।

अपने संबोधन में श्री नित्यानंद राय ने कहा कि भारत के लौह पुरुष सरदार पटेल ने कहा था कि "संघ चला जाएगा, आपके पास एक संयुक्त भारत नहीं होगा, यदि आपके पास एक अच्छी अखिल भारतीय सेवा नहीं है, जिसे अपना मन रखने की स्वतन्त्रता है।" गृह राज्य मंत्री ने कहा कि मैं भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारियों की दृढ़ता, समर्पण, ईमानदारी और इस देश को एक संगठित और एकीकृत बनाए रखने में उनके योगदान की सराहना करना चाहता हूं। उन्होने कहा कि सबसे ऊपर,आपके पास साहस होना चाहिए,न केवल क्षेत्र में नेतृत्व करने के लिए,बल्कि किसी भी स्थिति में सच्चाई के लिए नैतिक रुख अपनाने के लिए भी।

श्री नित्यानंद राय ने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री जी की‘राष्ट्र पहले, सदैव पहले’और माननीय गृह मंत्री जी की न्यायपूर्ण कार्य और संवेदनशील पुलिस की मूल भावना से आप अच्छी तरह से अवगत हैं। मुझे विश्वास है कि आप उनकी आशा और अपेक्षाओं पर खरे उतरेंगे। केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री ने कहा कि इस देश के लोग चाहते हैं कि आप भारत के संविधान में निहित न्याय, स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व जैसे मूल्यों के अनुसार कानून के संरक्षक बनें। यह तभी संभव होगा जब आप में निष्पक्षता, सत्यनिष्ठा, नम्रता, साहस, प्रतिबद्धता, टीमवर्क और सच्चाई के लिए खड़े होने की क्षमता हों। यदि आप एक सच्चे पुलिस नेता के रूप में उभरना चाहते हैं तो आपके मूल्य, दृष्टिकोण, व्यक्तित्व और आचरण उच्चतम क्रम के होने चाहिए। अकादमी द्वारा विकसित आपकी पेशेवर दक्षताओं के परिणामस्वरूप पुलिसिंग को आपसे परिवर्तनकारी नेतृत्व मिलना चाहिए।

 
श्री राय ने कहा कि इस देश के लोगों के साथ बेहतर जुड़ाव के लिए आपको सामुदायिक पुलिसिंग की पहलों के लिए सक्रिय रूप से कार्य करना चाहिए। आप जो भी पहल करेंगे, उसके लिए समुदाय की ताकत से बल मिल सकता है। उन्होने कहा कि हमारे समाज में महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अपराध एक चिंता का विषय बना रहता है उनसे निपटना भी आपकी प्रमुख जिम्मेदारी होनी चाहिए। श्री राय ने कहा कि मैं आप से हर साल कम से कम एक सौ घंटे अपने अधीन काम कर रहे पुरुषों और महिलाओं को नवीनतम तकनीकों के बारे में प्रशिक्षित करने का आग्रह करना चाहूँगा क्योंकि जब तक आप अपने अधीनस्थ पुलिस कर्मियों के विकास में निवेश नहीं करेंगे तब तक आप असाधारण परिणाम प्राप्त नहीं कर पाएंगे।

गृह राज्य मंत्री ने कहा कि हमारा देश आतंकवाद, विद्रोह, सांप्रदायिकता, धार्मिक कट्टरपंथी, वामपंथी उग्रवाद, साइबर अपराध आदि जैसी गंभीर समस्याओं में उलझा रहे, इसके लिए बड़ी साजिश होती रहती है। उन्होने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री जी और माननीय गृह मंत्री जी तथा समस्त देशवासी भारतीय पुलिस सेवा के युवा अधिकारियों पर विश्वास करते हैं कि आप इस महान राष्ट्र और उसके नागरिकों को इन खतरों से बचाने का महत्वपूर्ण कार्य करेंगे।

श्री राय ने कहा कि राष्ट्र पुलिस अधिकारियों और पुलिस बलों के कर्मियों का ऋणी है, जिन्होंने इस राष्ट्र की सुरक्षा बनाए रखने के लिए कर्तव्य की वेदी पर अपने जीवन का बलिदान दिया। वर्तमान महामारी में पुलिस कर्मी भी 'फ्रंटलाइन वारियर्स' रहे हैं और 2,000 से अधिक पुलिस कर्मियों ने इस लड़ाई में सर्वोच्च बलिदान दिया है। कर्तव्य के प्रति उनकी प्रतिबद्धता और समर्पण के लिए गहरा सम्मान व्यक्त करता हूं।

गृह राज्य मंत्री ने कहा कि पासिंग आउट परेड प्रत्येक वर्दीधारी अधिकारी के जीवन में एक गौरव का विषय है। ये सम्मान और उपलब्धि के क्षण हैं जिन्हें आप हमेशा याद रखेंगे क्योंकि आप राष्ट्र की सेवा में पहला कदम उठा रहे हैं। इस परेड में 33 महिला पुलिस अधिकारी भी हैं। भारतीय पुलिस सेवा में आपकी उपलब्धि के लिए मैं आप सभी को बधाई देता हूं। हम इस सेवा में और अधिक महिलाओं के शामिल होने की आशा करते हैं। श्री राय ने कहा कि इस चुनौतीपूर्ण प्रशिक्षण के सफल समापन पर सभी परिवीक्षाधीनों को हार्दिक बधाई देता हूं। साथ ही सभी ट्राफी और पदक प्राप्त करने वालों को भी बधाई देता हूं। गृह राज्य मंत्री ने आशा व्यक्त की कि युवा पुलिस अधिकारी अपने आदर्शवाद और उत्कृष्टता के मानकों और भारत के संविधान में निहित मूल्यों पर खरा उतरेंगे और देशवासियों को आप पर गर्व होगा । श्री राय ने कहा कि मुझे विश्वास है आप ईमानदारी और परिश्रम के बल पर पुलिस जगत में एक गौरवशाली इतिहास रचेंगे और आपके राष्ट्र सेवा और जन सेवा के कार्यों को हमेशा याद किया जाएगा । मातृभूमि और तिरंगा का अभिमान हमेशा आपको बल देगा ।

श्री नित्यानंद राय ने कहा कि मुझे यह जानकर प्रसन्नता हो रही है कि इस पासिंग आउट परेड में रॉयल भूटान पुलिस, मालदीव पुलिस सेवा, मॉरीशस पुलिस बल और नेपाल पुलिस सेवा के अधिकारी भी शामिल हैं। उन्हें इस महत्वपूर्ण अवसर पर बधाई देता हूं। मुझे विश्वास है कि प्रशिक्षण के दौरान जो संबंध बने हैं, वे हमारे राष्ट्रों के बीच मैत्रीपूर्ण संबंधों को और मजबूत करेंगे।
  
  परेड में 33 महिला अधिकारियों समेत 144 युवा परिविक्षाधीन आईपीएस अधिकारी शामिल हुए । इस साल दोनों शीर्ष स्थान महिला अधिकारियों ने हासिल किए । राजस्थान कैडर की सुश्री रंजीता शर्मा को सर्वश्रेष्ठ प्रोबेशनर घोषित किया गया । गृह राज्य मंत्री ने उन्हें प्रधानमंत्री बेटन और गृह मंत्री रिवाल्वर प्रदान की । तमिलनाडु कैडर की सुश्री श्रेया गुप्ता को दूसरे सर्वश्रेष्ठ परिविक्षाधीन अधिकारी के लिए भुवनन्दन मिश्रा ट्रॉफी प्रदान की गई । परेड में नेपाल पुलिस के 10, रॉयल भूटान के 12, मालद्वीव पुलिस सेवा के 7 और मॉरीशस पुलिस फोर्स के 5 अधिकारियों समेत कुल 34 विदेशी प्रोबोशनर्स भी शामिल हुए ।

live