नीतीश सरकार में धान फसल की रोपनी सड़क पर - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

नीतीश सरकार में धान फसल की रोपनी सड़क पर

Share This



आलोक वर्मा /नवादा
नवादा : जिले के रोह प्रखंड की सड़के की हालत बद से बदतर हो गई है , जिससे नाराज स्थानीय ग्रामीणों ने शुक्रवार को रोह बाजार के सिउर रोड की मुख्य सड़क पर ही धान की फसल बो कर विरोध जताया है। रोह प्रखंड की सिउर रोड, मरुई रोड, कुंजैला-भट्टा पथ हालत तो इतनी जर्जर है कि ग्रामीणों को सड़क पर चलना जोखिम भरा काम लगता है। खाश कर रोह-सिउर पथ पर बाजार की सड़क पूरी तरह कीचड़ में सना हुआ है। सड़क पर पैदल चलना मुश्किल भरा काम है। आये दिन दो पहिया वाहन चालकों को संतुलन खोकर कीचड़ में गिरना आम बात हो गई है। स्थानीय लोगों के द्वारा कई बार स्थानीय जनप्रतिनिधियों व प्रशासन को सड़क की माली हालत की ओर ध्यान आकृष्ट कराया गया था।  परंतु किसी के कानों में जूं तक नहीं रेंगा। अंततः ग्रामीणों ने अपने अंदर फूट रहे गुस्से को शांत करने के लिए विरोध का यह तरीका अपना कर स्थानीय जनप्रतिनिधियों व प्रशासन के मुंह पर करारा तमाचा जड़ दिया। ग्रामीणों की शिकायत है कि जनप्रतिनिधि चुनाव के वक्त लंबे-लंबे वादे कर चुनाव जीत जाते हैं। उसके बाद जनता की समस्याओं से मुंह फेर लेते हैं।ग्रामीणों का आरोप है कि यदि कुछ दिनों में सड़क निर्माण कार्य शुरू नही किया गया तो इसके लिए अनशन पर बैठेंगे। ग्रामीणों का कहना है रोह के सिउर रोड की सड़क की कई वर्षों से मरम्मत न होने से हर मौसम में जलभराव रहता है। बाजार और गांव के लोगों को नारकीय जीवन जीना पड़ रहा है। लोगों ने बताया कि सड़क मरम्मत की मांग की गई तो जनप्रतिनिधि सिर्फ वोट बैंक की राजनितिक की जाती है। और कुछ नही किया जाता है सिउर रोड तालाब का रूप धारण कर चुकी है यहां से गुजरने वाले लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। लोगों ने कई बार प्रशासनिक अधिकारियों और जनप्रतिनिधि से पानी की निकासी और रोड निर्माण की गुहार लगाई, लेकिन किसी ने इस समस्या की ओर ध्यान नहीं दिया। सिर्फ आश्वासन मिला। यह सड़क दर्जनों से अधिक गांव को जोड़ती हैं।पानी भरा रहने से सड़क में गहरे गड्ढे पड़ गए हैं, जिनके कारण यहां रोजाना हादसे होते रहते हैं। ग्रामीणों ने विधायक व सांसद से समस्या की शिकायत की है, लेकिन इसके बाद भी समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है।
इन गांवों को आवागमन में होती है दिक्कत-
रोह बाजार, हरबंश बिगहा टोला, मड़रा, रतोई, महरावा, परतापुर, अनैला बाजार, सुंदरा, मरुई, मानपुर, भट्टा, सिउर, महकार, डेगमा, बघोर समेत दर्जन भर से अधिक गांव जाने जाने के लिए यही सड़क का एक मात्र सहारा है। यह सभी गांव के लोग प्रति दिन अवागमन करते हैं।सबसे ज्यादा लोगों को बारिश के दिनों में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस मौके पर शिवदानी पासवान, विश्वजीत कुशवाहा, प्रमोद गुप्ता, बिंदा पासवान, सन्नू आदि दर्जनों ग्रामीण उपस्थित थे।

No comments:

Post a comment

live

Post Bottom Ad

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages