जानिए मधुबनी में दो ठगों ने महिला से कैसे उड़ा लिए 70 हजार के गहने, फिर क्या हुआ - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

क्रिकेट का लाइव स्कोर

जानिए मधुबनी में दो ठगों ने महिला से कैसे उड़ा लिए 70 हजार के गहने, फिर क्या हुआ

Share This
पप्पू कुमार पूर्वे 

पुजारी व तांत्रिक के वेश में आए दो व्यक्तियों ने घर में अकेली महिला को भूत-प्रेत एवं खराब ग्रह दशा का भय दिखाया और उनसे मुक्ति और पुत्र रत्न की प्राप्ति के लिए पूजा पर बैठाया। इस क्रम में उन ठगों ने महिला को आंखे बंद कर प्रार्थना करने को कहा और उसी बीच मौका पाकर महिला की सोने-चांदी के गहनों की पोटली लेकर दोनों गायब हो गए।घटना के सात दिन बाद दोनों ढ़ोंगियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।उक्त घटना लौकहा थाना क्षेत्र के खाप गांव में बीते 13 मार्च को रेणु देवी के साथ घटित हुई। तांत्रिक-पुजारी का वेश धरे दो व्यक्ति उस दिन सुबह में उनके दरवाजे पर आए थे। उस वक्त वह घर में अकेली थी। पति शैलेंद्र यादव और ससुर दरपीलाल यादव घर पर नहीं थे। सास मायके गई हुई थी। दोनों ढोंगियों ने रेणु देवी को कहा कि उनका पूरा परिवार दुष्ट आत्माओं, भूत-प्रेतों तथा प्रतिकूल ग्रहों के साए में है। यदि वह उनके अनुसार पूजा पाठ करे तो उन्हें उनसे मुक्ति मिल सकती है तथा पुत्र रत्न की प्राप्ति भी हो सकती है। उन्होंने उन्हें शरीर के सारे सोना चांदी के गहने एक पोटली में बांधकर बेडरूम में तकिए के नीचे दबा कर रखने को कहा और वहां पूजा-पाठ करने लगें। बेडरूम में पूजा समाप्त कर वे दोनों बगल में पूजा घर मे रेणु देवी को लेकर गए और पूजा पाठ कर आसन पर उन्हें बैठा दिया। उन्होंने देवता का ध्यान कर तब तक आंखे बंद रखने को कहा जबतक वे खोलने के लिए नहीं कहे। काफी देर तक आंखे बंद रखने के बाद जब उन्होंने आंखे खोली तो दोनों वहां से गायब थे और तकिए के नीचे पोटली में बंधे उनके करीब 70 हजार रुपये मूल्य के सोना-चांदी के जेवरात भी गायब थे।थोड़ी देर बाद उनके पति और ससुर भी आ गए। गांव वालों के साथ मिलकर उन्होंने उन दोनों तांत्रिक-पुजारियों की तलाश की। वे कहीं नही मिले और अन्तत: करीब 70 हजार रुपए मूल्य के सोने चांदी के गहने ठगी के जरिये उड़ा ले भागने का आरोप लगाते हुए उक्त दोनों के खिलाफ लौकहा थाने में उसी दिन मामला दर्ज करा दिया।हफ्ते भर बाद खाप गांव से थोड़ी दूर पर बलुआ बॉर्डर हाट पर दो व्यक्तियों को लोगो ने इधर-उधर घूमते देखा। उन्होंने ठगी के शिकार परिवार को इसकी सूचना दी। लौकहा पुलिस को भी इसकी सूचना मिली जिसने त्वरित कार्रवाई करते हुए दोनों को बलुआ बोर्डर हाट से गिरफ्तार कर लिया। इनकी पहचान दरभंगा जिला के बहेड़ी थाना क्षेत्र के तुर्की गांव के आमोल कुमार लालदेव व सुजीत लालदेव के रूप में हुई है। आरंभिक पूछताछ के बाद उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

No comments:

Post a comment

live

Post Bottom Ad

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages