मंत्री सुमित कुमार सिंह ने स्थापित किया आदर्श बिना किसी पूर्व सूचना के जा पहुंचे आशीर्वाद लेने अपने पूर्व परिचित के घर - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

मंत्री सुमित कुमार सिंह ने स्थापित किया आदर्श बिना किसी पूर्व सूचना के जा पहुंचे आशीर्वाद लेने अपने पूर्व परिचित के घर

Share This
अनूप नारायण सिंह 

मिथिला हिन्दी न्यूज वैशाली :- कोई भी इंसान यूं ही लोकप्रिय नहीं होता लोकप्रिय बनने के लिए उसे कुछ जरूर ऐसा कार्य करना पड़ता है जिसके कारण लोगों के दिल में वह राज करता है यह कहावत बिहार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह के संदर्भ में पूरी तरह सटीक बैठती है मंत्री सुमित सिंह रविवार को लालगंज प्रखंड में आयोजित कई कार्यक्रमों में शिरकत करने पहुंचे थे पर देर रात अपने एक पूर्व परिचित व्यक्ति के घर बिना किसी सूचना के जा पहुंचे मंत्री को अपने घर देखकर परिचित सज्जन भी अवाक थे।बिहार सरकार में विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह रविवार को लालगंज वैशाली में कई कार्यक्रमों में शिरकत की देर रात उन्होंने पंचदमियां गांव जो करताहा बुजुर्ग पंचायत के अंतर्गत आता है (लालगंज वैशाली) में स्वतंत्रता सेनानी स्वर्गीय महेंद्र नाथ सिंह के पुत्र डॉ अभय नाथ सिंह से मिलने उनके घर पहुंचे थे डॉ अभय नाथ सिंह के परिवार से मंत्री सुमित कुमार सिंह के परिवार का पुराना संबंध रहा है अभय नाथ बाबू रघुवंश बाबू के सहयोगी रहे हैं तथा वर्षों तक उनके सांसद प्रतिनिधि रहे हैं देर रात अपने परिचित के घर बिना किसी तामझाम के पहुंचे मंत्री को देखने के लिए सैकड़ों की भीड़ उपस्थित थी। इस अवसर पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए मंत्री सुमित कुमार सिंह ने कहा कि मंत्री बनने के बाद भी वे खुद को एक आम इंसान मानते हैं उनके नजर में सब का एक बराबर सम्मान है।उनसे मिलने के लिए किसी भी व्यक्ति को किसी प्रोटोकॉल की आवश्यकता नहीं है वह सभी से मिलना पसंद करते हैं विभाग के मंत्री के रूप में उनके विभाग से जुड़े कार्य के लिए कोई व्यक्ति कभी भी उनसे मिल सकता है उन्होंने अपने विभाग के द्वारा चलाए जा रहे कई लोकोपयोगी कार्यक्रमों के बारे में बताया जिसमें किसी भी तरह के जनोपयोगी अविष्कार करने वाले व्यक्ति को ₹3 लाख के वजीफा देने की बात भी दोहराई उन्होंने कहा कि ग्रामीण अंचल मे बहुत सारे लोग हुनरमंद होते हैं कुछ ना कुछ ऐसा अविष्कार करते हैं जिससे आम जनजीवन में बहुत बड़ा बदलाव हो जाता है अगर किसी के पास इस तरह का कोई भी अविष्कार है तो उनका विभाग वैसे व्यक्ति का स्वागत करता है ऐसे बेहतर अविष्कार करने वाले लोगों के लिए उनके विभाग में ₹3 लाख के वजीफे की भी व्यवस्था है बिहार के आईटीआई इंजीनियरिंग कॉलेजों की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि आने वाले महीनों में कई सारे बड़े परिवर्तन देखने को मिलेंगे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की बड़ाई करते हुए उन्होंने कहा कि न्याय के साथ विकास की अवधारणा को माननीय मुख्यमंत्री ने वास्तविकता के धरातल पर उतारा है समाज के सभी वर्गों को एक समान विकास के धारा से जोड़ा गया है पूरे राज्य में अपराध व अपराधियों के खिलाफ कठोर कदम उठाए गए हैं शराबबंदी जैसे जनउपयोगी कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं महिलाओं को पंचायती राज व्यवस्था में 50 फ़ीसदी आरक्षण दी गई है बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए मैट्रिक इंटर व स्नातक में वजीफे की घोषणा की गई है सामाजिक न्याय की अवधारणा को मजबूत करने के लिए भी की कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं

live

हमारे बारें में जानें

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages