नामी-गिरामी हस्ती के निधन पर विद्यापति सेवा संस्थान ने जताया शोक - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

नामी-गिरामी हस्ती के निधन पर विद्यापति सेवा संस्थान ने जताया शोक

Share This
संवाद 

 कोरोना के कहर से कालकलवित होने वाले मैथिली विषय के साथ सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी कराने वाले चर्चित शख्सियत शेखर झा, आर्यावर्त समाचार पत्र के पूर्व संपादक जितेंद्र मिश्र जीवन, स्वास्थ्य विभाग के अपर सचिव रविशंकर चौधरी, प्रसिद्ध रंगकर्मी मनोज मनुज, राजकीय सम्मान से सम्मानित शिक्षक डॉ प्रेम चंद्र झा, मिथिला-मैथिली आंदोलन के सशक्त सेनानी हरेंद्र झा राजा एवं मैथिली पुस्तक मुद्रण के क्षेत्र में प्रभावकारी भूमिका निभाने वाले संजू अग्रवालके निधन पर विद्यापति सेवा संस्थान ने शनिवार को शोक जताया। संस्थान के महासचिव डॉ बैद्यनाथ चौधरी बैजू ने कोरोना महामारी का शिकार होकर असमय काल के गाल में समाये इन लोगों के निधन को मिथिला एवं मैथिली जगत के लिए अपूर्णीय क्षति बताते हुए कहा कि अपने कृतित्व एवं व्यक्तित्व में ये सभी हमेशा जीवंत बने रहेंगे। 
 मैथिली अकादमी के पूर्व अध्यक्ष पं कमलाकांत झा ने दिवंगत लोगों के निधन को मिथिला के लिए भारी नुकसान बताया। वरिष्ठ कवि मणिकांत झा ने कहा कि मिथिला व मैथिली की सेवा में दिए अपने योगदानों के लिए वे हमेशा याद किए जाएंगे। 
संस्थान के सचिव प्रो जीवकांत मिश्र ने इन लोगों के निधन को मिथिला-मैथिली के लिए अपूर्णीय क्षति बताया। मीडिया संयोजक प्रवीण कुमार झा ने कहा कि अपनी कृतियों से मिथिला का नाम रोशन करने वाले इन लोगों को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। 
 शोक संवेदना प्रकट करने वाले अन्य लोगों में डाॅ महेन्द्र नारायण राम, हरिश्चन्द्र हरित, हीरा कुमार झा, डॉ गणेश कांत झा, प्रो विजय कांत झा, प्रो चंद्रशेखर झा बूढ़ा भाई, विनोद कुमार झा, दुर्गानंद झा, चौधरी फूल कुमार राय, गणपति झा, चन्द्रमोहन झा पड़वा, आशीष चौधरी, जयनारायण साह, डॉ उदय कांत मिश्र, चंदन सिंह आदि शामिल थे।

live

हमारे बारें में जानें

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages