महमदपुर नरसंहार के खिलाफ महागठबंधन का मधुबनी बंद राजद ने कहा मुख्यमंत्री को अविलंब SIT का गठन करना चाहिए - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

महमदपुर नरसंहार के खिलाफ महागठबंधन का मधुबनी बंद राजद ने कहा मुख्यमंत्री को अविलंब SIT का गठन करना चाहिए

Share This
संवाद 


मिथिला हिन्दी न्यूज :- सत्ता संरक्षण में हुए महमदपुर नरसंहार के खिलाफ महागठबंधन के आह्वान पर जन संहारियो को फाँसी दो, घटना के मुख्य अभियुक्तों के मोबाइल कॉल डिटेल से संरक्षको को चिन्हित करने, बेनीपट्टी, बिस्फी भाजपा के विधायक के मोबाइल कॉल डिटेल से अपराधियो के संरक्षण की जांच करो,घटना की एसआईटी से न्यायालय की देख रेख मैं जांच कराने की मांग को लेकर राष्ट्रीय जनता दल जिला इकाई मधुबनी के द्वारा जिला अध्यक्ष सह लौकहा विधायक भारत भूषण मंडल के नेतृत्व मैं मधुबनी बंद को सफल बनाने के लिए मधुबनी रेलवे स्टेशन पर सड़क जाम एवं सहर के विभिन्न मार्गों पर प्रतिरोध मार्च कर दुकानों एवं सरकारी प्रतिष्ठानो को बंद करवाकर बंद का समर्थन किया। बंद स्थल पर प्रेस से बात करते हुए जिला अध्यक्ष सह लौकहा विधायक ने कहा कि
महमदपुर नरसंहार मैं विधायक, मंत्री तथा उनकी किसी सेना की कोई संलिप्तता नहीं है तो मुख्यमंत्री किसी उच्च अधिकारी के नेतृत्व में SIT का गठन क्यों नहीं करते? मुख्यमंत्री को अविलंब SIT का गठन करना चाहिए।
अपराधी का कोई जाति-धर्म नहीं होता। जो व्यक्ति ऐसे क्रूर काम करे, मानवता और इंसानियत में यक़ीन ही ना करे उसके लिए कोई जाति-धर्म मायने नहीं रखता। जो अपराधी रावण के नाम पर सेना चलाता हो उससे उसकी मानसिकता का पता चलता है। रावण तो बुराई का प्रतीक है। फिर बुराई के प्रतीक को मानने वाली की क्या जाति होगी? ऐसे अपराधी को सामाजिक रूप से बहिष्कृत कर कड़ी से कड़ी सजा देनी चाहिए। 
स्थानीय विधायक समीर कुमार महासेठ ने कहा कि मुख्यमंत्री जी को बताना चाहिए कि सत्ता और स्थानीय पुलिस प्रशासन के संरक्षण में ऐसी सेना का संचालन कैसे हो रहा था, क्योकि अपराधियो के साथ सत्ता और पुलिस प्रशासन की संरक्षण की बात खुलकर सामने आ चुका है। मैंने पहले ही कहा था, नीतीश जी से बिहार नहीं संभल रहा। वो थक चुके है और अब हार कर अपमानित होकर भी मुख्यमंत्री बने हुए है। लोकलाज और नैतिकता त्याग अनुकंपा पर मुख्यमंत्री बन ही गए तो अपने संवैधानिक कर्तव्यों का निर्वहन करना चाहिए। सुशासनी अपराधी बेलगाम है। पुलिस बेक़ाबू है। पुलिस और अपराधियों की साँठगाँठ है। और मुख्यमंत्री असहाय हो कह रहे है यह मेरी ज़िम्मेवारी नहीं पुलिस की है। मैं नहीं पुलिस इसे देखेगी। मुख्यमंत्री जी, आपका डीएसपी से क्या विशेष प्रेम है? जाँचकर्ता डीएसपी तो मुख्य अभियुक्त का मार्गदर्शक है, उससे आप क्या जाँच करवा रहे है?आपके शब्दकोष में न्याय दोषियों को मिलता है पीड़ितों को नहीं। बिहार की जनता आपकी सरकार और गृह विभाग के सारे कृत्य देख रही है।
पूर्व विधायक डॉ फैयाज अहमद ने कहा कि बेनीपट्टी थाना व हरलाखी विधानसभा क्षेत्र के महमदपुर गांव में हुई गोलीबारी व नरसंहार में शामिल अपराधियों को स्पीडी ट्रायल के माध्यम से कठोरतम सजा दिया जाए। होली की खुशियों के बीच दिनदहाड़े घटे जघन्य नरसंहार में संलिप्त सभी अपराधियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए। कहा कि मिथिला की भूमि शांति के लिए जानी जाती है। मिथिला की इस पावन भूमि पर ऐसे जघन्य अपराध ने मानवता को शर्मसार कर दिया है। अपराधी जहां भी छूपे हों, पुलिस उसे जल्द गिरफ्तार करे। इस सामुहिक हत्याकांड से स्थानीय लोगों के बीच रोष व्याप्त है। पांच लोगों की मौत ने मानवीय संवेदना को झकझोर कर रख दिया है। इस नरसंहार की जितनी भी निदा की जाए, कम है। जब तक पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिलेगा, तब तक राजद के द्वारा आंदोलन जारी रहेगा। इनके अलावे पूर्व सांसद सुरेंद्र प्रसाद यादव, पूर्व विधायक सीताराम यादव, राजद के वरिष्ठ नेता राजकुमार यादव, रामकुमार यादव, अरुण चौधरी, जिला प्रवक्ता इन्द्रजीत राय, इंद्रभूषण यादव, जिला अध्यक्ष युवा राजद, अमन कुमार यादव , कर
कृत्यनारायण यादव,संभु प्रसाद, सहलैता, ईश्वर प्रसाद गुरमैता, सुधीर यादव, अजितनाथ यादव,संजय कुमार यादव,अजित यादव,रत्नेश्वर प्रसाद यादव,गुणानंद यादव,प्रमोद कुमार यादव,पप्पू, ललित पासवान,जोगेंद्र ठाकुर,गोपाल सिंह,फूल सिंह, हीरा सिंह, महताब आलम प्रवक्ता युवा राजद, अमरेंद्र चौरसिया, पवन कुमार भास्कर,उमेश राम,विशुनदेव राम, आलोक झा, लालबाबू यादव, कुमार आलोक , मधु राय, राजू यादव, सचिन कुमार यादव, सोनू कुमार यादव,आलोक झा सहित अन्य ने भाग लिया।

No comments:

Post a comment

live

Post Bottom Ad

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages