अपराध के खबरें

अमनौर से भाजपा विधायक ने की पप्पू यादव के गिरफ्तारी की मांग

भाजपा विधायक ने की मांग, अमनौर में दर्ज है प्राथमिकी, जल्द हो गिरफ्तारी
पप्पू यादव ने पुरूलिया कांड में अच्छी की थी ड्राईविंग
किम डेवी को देश से भगाने वाले की प्रवृत्ति कभी बदल नहीं सकती  
वेंटिलेटर और जीवन रक्षक दवाओं कालाबाजारी को बढ़ावा देने वाले है पप्पू यादव
लोकतंत्र की राजनीतिक गतिविधियां सूचित और पवित्रता का प्रतीक है।

अनूप नारायण सिंह

लोकतंत्र की इस पवित्र गंगा में आकर भी अपनी आपराधिक प्रवृत्ति को त्याग नहीं पाते है ऐसे लोग
 अमनौर में कोविड के दिशा निर्देशों की अवहेलना करते जोर जबरदस्ती सामुदायिक केंद्र में घुसने और एम्बुलेंस में तोड़फोड़ करने पर राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव पर केस दर्ज होने के बाद भाजपा के अमनौर विधायक सह भारत सरकार समन्वय प्रकोष्ठ के अध्यक्ष कृष्ण कुमार उर्फ मंटू सिंह ने उनकी गिरफ्तारी की मांग की है। विधायक ने कहा कि कोविड संक्रमण के इस संकटकाल में नियमों को अनदेखा करते हुए सैकड़ों असामाजिक तत्वों के साथ पप्पू यादव ने इस कृत्य को अंजाम दिया। उन्होंने सरकार द्वारा जारी लॉक डाउन के नियमों को तोड़ा है। ऐसे व्यक्ति को त्वरित रूप से गिरफ्तार होना चाहिए। उन्होंने कहा कि फिलहाल पप्पू यादव के पास कोई काम नहीं है, यदि वो जनता की सेवा करना चाहते है तो, चाहें तो वो भी एक एम्बुलेंस ड्राईव कर सकते है क्योंकि, ड्राईविंग वो अच्छी तरह से जानते है जिसे देश की जनता ने पुरूलिया में देखा और सुना है। सभी ने देखा कि इनकी रफ्तार कितनी अच्छी है और ये रोगी को जल्दी से जल्दी अस्पताल पहुंचा सकते है।  
विधायक मंटू सिंह ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र की राजनीतिक गतिविधियां सूचित और पवित्रता का प्रतीक है। कई लोग अन्य क्षेत्रों से आकर अपने को भारतीय लोकतंत्र की गंगा में पवित्र कर चुके है। परन्तु कुछ असामाजिक जन लोकतंत्र की इस पवित्र गंगा में आकर भी अपनी आपराधिक प्रवृत्ति को त्याग नहीं पाते जिसका उदाहरण पप्पू यादव ने दिया। उन्होंने कहा कि यह सर्वविदित है कि अपराध के अंधी गलियों में भटकता हुआ पप्पू यादव राजनीति के गंगा में तो प्रवेश किया लेकिन अपने आचरण को बदल नहीं पाया। राजनीति में आने से पूर्व अपराध की दुनिया में रहते हुए इनपर 32 से अधिक मुकदमे हुए। एक दशक जेल में बिताया और अपहरण, डकैती, हत्या, लूट और ब्लैक मार्केंटिंग जैसे कई संगीन आरोपों में उनपर एफआईआर भी है और कई न्यायालयों में मुकदमा भी चल रहा है। ऐसे में सरकार से मांग करता हूँ कि जब अमनौर में उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हो चुकी है तो अविलम्ब गिरफ्तार करना चाहिए।

live