अपराध के खबरें

कमला नदी परिसर क्षेत्र में हुआ भव्य महाआरती,आरती व दीपों की जगमगाहट से चहक उठा कमलानदी का तट

पप्पू कुमार पूर्वे 

श्री श्री 1008 श्री माँ कमला सेवा समिति जयनगर ओर से पर्ण कुटी मंदिर जयनगर कमला तट पर कमला महाआरती व दीप महोत्सव कार्यक्रम मनाया गया। मंत्रोउच्चारण के साथ लोंगो ने मां कमला की आरती की, वही उपस्थित श्रद्धालुओं ने दीप जलाए। दीपकों से मां कमला का आंचल कई घंटों तक अलौकिक छटा बिखेरता रहा।बता दे जयनगर में बनारस की तरह माँ कमला की आरती गुरु पूर्णिमा के दिन इसकी शुरुआत जयनगर में की गई थी। कमिटी के सदस्यों का कहना है।यह आरती कार्यक्रम प्रत्येक सप्ताह में शुक्रवार दिन किया जायेगा।आज यह कार्यक्रम का सातवाँ दिन था।कमिटी के अध्यक्ष सुमन पूर्वे ने कहा लोगों के सुख-समृद्धि व सलामती के लिए कमला मैया से प्रार्थना किया गया।इस दौरान कोरोना प्रोटोकाल का पालन किया गया।इस मौके पर कई लोग मौजूद थे।मिथिलांचल के लोग कमला को छोटी गंगा भी कहते हैं। यह नदी नेपाल के हिमालयी क्षेत्रों से बहकर जयनगर बॉर्डर होते बिहार में प्रवेश करती है। मिथिलांचल के 10 लाख से अधिक लोगों के लिए कमला जीवनदायिनी है। हर साल कमला में आने वाली बाढ़ उपजाऊ मिट्टी लेकर भी आती है। महापर्व छठ से लेकर विभिन्न प्रकार के अनुष्ठान कमला तट पर होते है।इस मौके पर पंडित चन्द्रशेखर झा, संरक्षक बालक दास बाबा नागा, सुमन पूर्वे,संतोष साह, रौशन चौधरी,शशि हजरा,रंजीत राय,रामसेवक साह,अनुराग कुमार,अजय राय,अजय कापड़,चन्देश्वर झा,देवकरण राय,रूदल मुखिया,भगत मुखिया,मिथुन शर्मा,देवनारायण मुखिया,रोज़िन मुखिया,सिकेन्द्र मुखिया,हरिओम कुमार सहित अन्य मौजूद थे।इस आयोजन में जयनगर के शहरी एव ग्रामीण क्षेत्रो के सामाजिक एव गणमान्य लोगों के साथ हमारे पड़ोसी मुल्क नेपाल के सिरहा जिला सहित कई जगहों के भक्तगण शामिल हुए ।

live