सी.ए.ए.-एन.आर.सी.’ आंदोलन के समान ही किसान आंदोलन के माध्यम से देश को अस्थिर करने का देशविरोधी शक्तियों का षड्यंत्र : कपिल मिश्र - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

सी.ए.ए.-एन.आर.सी.’ आंदोलन के समान ही किसान आंदोलन के माध्यम से देश को अस्थिर करने का देशविरोधी शक्तियों का षड्यंत्र : कपिल मिश्र

Share This
श्री. रमेश शिंदे

 भूतपूर्व सरकार के समय सीधे आतंकवादी आक्रमण कर अथवा बमविस्फोट करवाकर देश में देश को अस्थिर किया जाता था । अब सीधे वह न कर पाने के कारण देशविरोधी शक्तियों ने सी.ए.ए. (नागरिकता सुधार अधिनियम) और एन.आर.सी. (राष्ट्रीय नागरिकता पंजीयन) के समय शाहीनबाग जैसे आंदोलन किए और तत्पश्‍चात हिंसक दंगे किए । अब वैसा ही किसान आंदोलन को माध्यम बनाकर हो रहा है । देहली के उपरांत संपूर्ण देश के अन्य राज्यों में अस्थिरता उत्पन्न करने का प्रयास चल रहा है । इसके पीछे खालिस्तानी संगठन और अन्य देशविरोधी शक्तियां कार्यरत हैं; परंतु उन्हें यह ध्यान में रखना चाहिए कि जिस प्रकार देहली के दंगों के उपरांत सब दोषियों पर कार्यवाही का सत्र प्रारंभ हुआ था, उसी प्रकार किसान आंदोलन के समय कोई देश को अस्थिर करने का प्रयत्न करेगा, तो सरकार द्वारा कठोर कार्यवाही हो सकती है, ऐसा वक्तव्य भाजपा के नई देहली के नेता एवं भूतपूर्व विधायक श्री. कपिल मिश्र ने किया । हिन्दू जनजागृति समिति द्वारा ‘चर्चा हिंदु राष्ट्र की...’ कार्यक्रम के अंतर्गत *‘सी.ए.ए.-एन.आर.सी.की वर्षपूर्ति का राष्ट्रीय अवलोकन’* इस विषय पर ऑनलाइन चर्चासत्र में वे बोल रहे थे । *यह कार्यक्रम फेसबुक और यू-ट्यूब के माध्यम से 46,166 लोगों ने प्रत्यक्ष देखा तथा 1,46,204 लोगों तक यह कार्यक्रम पहुंचा ।*
 
 इस अवसर पर प्रसिद्ध लेखिका और ‘मानुषी’ मासिक की संपादिका प्रा. मधु पूर्णिमा किश्‍वर बोलीं कि, ‘सी.ए.ए.’ कानून लाने से पूर्व सरकार को विदेश के हिन्दुआें पर होनेवाले भीषण अत्याचारों के संबंध में श्‍वेतपत्रिका जारी करनी थी । चलचित्र आदि माध्यमों से भी उस संबंध में बडी जनजागृति करनी चाहिए थी; परंतु पर्याप्त तैयारी न करने के कारण सूचना प्रसारण में आगे रहनेवाले देशविरोधकों ने उसे मुस्लिमविरोधी निर्णय कहकर संपूर्ण संसार में मानहानि की । एक मुस्लिम को यदि खरोंच भी आए, तब भी उसे अंतराष्ट्रीय मुद्दा बना दिया जाता है । उस प्रकार हम हिन्दुआें पर होनेवाले अत्याचारों के संबंध में जागृति नहीं करते ।

 इस अवसर पर पाक से भारत में आए पीडित हिन्दुआें को नागरिकता देने के लिए लडनेवाले ‘निमित्तेकम’ के अध्यक्ष श्री. जय आहुजा बोले कि, ‘सी.ए.ए.’ के कारण हजारों शरणार्थी हिन्दुआें को नागरिकता मिलनेवाली है । हम सब हिन्दुआें को एकत्रित आकर हिन्दुत्व की आवाज राष्ट्रीय स्तर पर बुलंद करनी चाहिए । हिन्दू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री. रमेश शिंदे बोले आरोप लगाया जा रहा है कि ‘सी.ए.ए.’, ‘एन.आर.सी.’ द्वारा सरकार हिन्दू राष्ट्र की दिशा में जा रही है । इस प्रकार प्रचार किया जा रहा है कि हिन्दू राष्ट्र कुछ भयानक है; परंतु यह कानून बनाने में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश आदि इस्लाम पर आधारित देश ही उत्तरदायी है । वहां के अल्पसंख्यकों पर होनेवाले हमलों की वास्तविकता संपूर्ण संसार में ज्ञात है । ऐसे समय हिन्दू सिद्धांतों पर आधारित आदर्श हिन्दू राष्ट्र ही न्याय देनेवाला सिद्ध हो सकता है । इसलिए हिन्दू राष्ट्र अत्यंत आवश्यक है ।


live

हमारे बारें में जानें

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages