अपराध के खबरें

मधुबन प्रखंड के उपस्वास्थ्य केंद्र पर कोरोना टीकाकरण का मनाया जा रहा उत्सव

- स्वास्थ्य केन्दों में जागरूकता के साथ हो रहा है कोविड टीकाकरण 
- सभी आवश्यक दवाओं के साथ कंट्रोल रूम में तत्पर हैं स्वास्थ्यकर्मी

प्रिंस कुमार 

मोतिहारी, 12अप्रैल। पूर्वी चम्पारण जिला के मधुबन प्रखंड के उपस्वास्थ्य केंद्र पर केयर कर्मियों के सहयोग से जागरूकता के साथ कोविड 19 का टीकाकरण कराया जा रहा है । प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मधुबन सहित उपस्वास्थ्य केंद्र गड़हिया, सवंगिया में 45 वर्ष से ऊपर के व्यक्ति को कोविड-19 का टीका दिया गया है । जिसमें 3 बजे तक सभी जगह मिलाकर लगभग 300 से ज्यादा लोगों को टीका दिया गया । इस कार्य में केयर इंडिया टीम द्वारा लक्ष्य प्राप्ति के लिए सभी सत्र स्थल पर आवश्यक सहयोग किया जा रहा है । गड़हिया उपस्वास्थ्य केंद्र पर मौजूद केयर इंडिया के प्रखंड प्रबंधक राहुल रंजन ने बताया कोविड टीकाकरण में लगातार स्वास्थ्य कर्मी अपनी सेवाएं दे रहे हैं । जिनमें डॉक्टर, नर्स, डाटा ऑपरेटर , लैब टेक्नीशियन, स्वास्थ्य कर्मी, सफाई कर्मी भी शामिल हैं। सभी मास्क, सैनिटाइजर के साथ कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का पालन करते हुए लगातार सेवा कर रहे हैं ।
 कोरोना आइसोलेशन सेंटर पर कंट्रोल रूम भी खोला गया-
 पूर्वी चम्पारण के सिविल सर्जन डॉ अखिलेश्वर प्रसाद सिंह ने बताया सदर अस्पताल में कोरोना के मरीजों के लिए हर प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध हैं । अभी तक 11.5 लाख लगभग लोगों की कोरोना की जाँच की जा चुकी है । वहीं 40 मरीज रविवार को मिले हैं । सदर अस्पताल के कोरोना आइसोलेशन सेंटर पर कंट्रोल रूम भी खोला गया है| जिसमें लगातार स्वास्थ्य कर्मी अपनी सेवाएं दे रहे हैं ।इनमें डॉक्टर, नर्स, डाटा ऑपरेटर , लैब टेक्नीशियन, स्वास्थ्य कर्मी, सफाई कर्मी भी शामिल है । सभी मास्क, सैनिटाइजर के साथ कोरोना प्रोटोकॉल के नियमों का पालन करते हुए लगातार सेवा कर रहे हैं । पूर्वी चम्पारण के सिविल सर्जन डॉ अखिलेश्वर प्रसाद सिंह व कोरोना नोडल डॉ रंजीत राय ने बताया जिले में कोरोना का टीकाकरण किया जा रहा है । यहाँ पर जाँच , व टीकाकरण संबंधित सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं । किसी प्रकार की कमी होने पर तुरंत पटना , दिल्ली से सम्पर्क स्थापित कर सहयोग लिया जाता हैं । ग्रामीण क्षेत्रों , बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, मॉल, सहित कई भीड़ भाड़ वाले इलाकों में कोरोना की जाँच की जा रही है । जिले में बाहर से आनेवाले लोगों को भी चिह्नित कर जाँच की जा रही । जगह जगह मास्क पहनने व कोरोना से बचने के लिए जागरूकता फैलायी जा रही है ।
प्रत्येक दिन 5000 से 6000 लोगों की कोरोना की जांच की जा रही-
 पूर्वी चम्पारण जिले में प्रत्येक दिन 5000 से 6000 लोगों की कोरोना की जांच की जा रही है । कोरोना के मरीज मिलने पर जांच करने के बाद उन्हें होम क्वारंटाइन किया जा रहा है| ज्यादा ही संक्रमण होने पर सदर अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड में इलाज किया जा रहा है । गंभीर स्थिति होने पर मरीजों को पटना रेफर भी किया जा रहा है । आरटी पीसीआर जांच एवं एंटीजन टेस्ट बढ़ाने पर भी विचार किया जा रहा है । जब तक सभी लोगों का टीकाकरण नहीं हो जाता कोरोना काल मे सावधानी बरतने की जरूरत है । डीटीएल मनीष कुमार ने कहा कोशिश करें कि ऐसे किसी भी जगह पर जाने से पहले मास्क जरूर लगाएं। इस बात का जरूर ध्यान दें कि आपका मास्क उतरने न पाए। ​खांसने और छींकने वाले लोगों से रहें दूर। आपको केवल उन्हीं लोगों से दूरी बनाए रखने की जरूरत है, जिन लोगों में सर्दी खांसी के लक्षण हैं। इसलिए जिन लोगों में ऐसे लक्षण दिखें उनसे दूर रहें।
मौके पर एएनएम सुनीता कुमारी बघेल, पूनम कुमारी, मुकेश कुमार , डाटा इंट्री ऑपरेटर जीविका सहित आशा, जीविका दीदी उपस्थित रहे। वही अन्य टीकाकरण स्थल पर केयर टीम के सरोज कुमार एवं पूजा कुमारी द्वारा सहयोग किया जा रहा है ।

कोरोना काल में इन उचित व्यवहारों का करें पालन
- एल्कोहल आधारित सैनिटाइजर का प्रयोग करें।
- सार्वजनिक जगहों पर हमेशा फेस कवर या मास्क पहनें।
- अपने हाथ को साबुन व पानी से लगातार धोएं।
- आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें।
- छींकते या खांसते वक्त मुंह को रूमाल से ढकें।

live