चार सौ बार दुल्हन क्यों बनी भोजपुरी अभिनेत्री रानी चटर्जी - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

चार सौ बार दुल्हन क्यों बनी भोजपुरी अभिनेत्री रानी चटर्जी

Share This
अनूप नारायण सिंह 


मिथिला हिन्दी न्यूज :-भोजपुरी को किसी के सहारे की जरूरत नहीं? भोजपुरी सिनेमा की सबसे सफलतम अभिनेत्रियों में शुमार रानी चटर्जी आज वरिष्ठ फिल्म पत्रकार अनूप नारायण सिंह के संग एक खास साक्षात्कार मे थी उन्होंने बताया कि भोजपुरी किसी की बपौती नहीं ना ही किसी के बदौलत है जो लोग आज चेहरा चमका रहे हैं वह सब भोजपुरी के बदौलत है भोजपुरी कल भी थी आज भी है और कल भी रहेगी पर वह लोग रहेंगे कि नहीं रहेंगे जो लोग इस गुमान में है की वे भोजपुरी के तारणहार बने हुए हैं। भोजपुरी में 400 से ज्यादा फिल्में कर चुकी रानी चटर्जी ने कहा कि लक्ष्मण रेखा सबके लिए होनी चाहिए इंडस्ट्री में जो कुछ हो रहा है वह गलत है कौन सही है कौन गलत है इस पर उनकी कोई टीका टिप्पणी नहीं है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा किसी एक व्यक्ति को टारगेट कर अब पूरी इंडस्ट्री को नहीं सुधार सकते अगर कहीं गलती है तो उसको सुधारने के लिए उस व्यक्ति का भी उसमें शामिल होना जरूरी है जिसने गलती की है यहां प्रवचन देने वाले बहुत सारे लोग हैं सोशल मीडिया पर लंबी चौड़ी बातें करते हैं पर घर में अपनी बहू बेटियों को इज्जत देते हैं कि नहीं देते हैं यह भी जगजाहिर है उन्होंने कहा कि वे कलाकार हैं और कलाकार वही चरित्र निभाता है जो स्क्रिप्ट होता है निजी जीवन अलग होता है अब किसी का रिल लाइफ के चरित्र को उसके रियल लाइफ से नहीं जोड़ना चाहिए। रानी चटर्जी ने कहा कि जो लोग भोजपुरी को सुधारने का दंभ भरते हैं वह किसी एक कलाकार को टारगेट पर लेते हैं अगर उनमें दम है तो पूरी भोजपुरी को सुधारने के लिए आगे आए अच्छी फिल्में बनाएं अच्छे गीत संगीत को बनाये लोगों को जागृत करें। बेहतर कलाकारों के एक्टिंग को तब भी सराहा जाएगा आज भी सराहा जा रहा है। आर्यावर्त के साथ एक विशेष बातचीत में रानी चटर्जी ने कहा कि अभी दौर संकट का है ऐसे दौर में बेवजह के विवाद को खड़ा करने की जगह जो सक्षम कलाकार है उन्हें अन्य कलाकारों की आर्थिक मदद करनी चाहिए उनका हौसला बढ़ाया जाना चाहिए ना कि आपस में खींचातानी होनी चाहिए एक कलाकार होने के नाते और भोजपुरी से प्यार करने के कारण उन्हें भी काफी दुख होता है। उन्होंने कहा कि भोजपुरी उनका परिवार है और परिवार में कोई भी व्यक्ति दुखी होगा तो पूरा परिवार सुखी नहीं हो सकता फिल्मों में आने की तैयारी करने वाली नवोदित लड़कियों को उन्होंने कहा कि सफर कठिन है कदम-कदम पर फूंक फूंक कर आगे बढ़ना है जल्दी बाजी घातक हो सकता है बुरे लोग हैं तो अच्छे भी लोग हैं अभी समय खुद पर वर्क करने का है हम सभी आशा करते हैं कि स्थितियां बदलेगी और फिर सब कुछ सामान्य होगा।

live

हमारे बारें में जानें

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages