अपराध के खबरें

डीएम ने प्रवासी श्रमिकों को कोरोना महामारी में सहायता उपलब्ध कराने को नियंत्रण कक्ष की स्थापना की

- नियंत्रण कक्ष सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक रहेगा कार्यरत ।

-जिला प्रवासी श्रमिक नियंत्रण कक्ष का हेल्पलाइन नंबर जारी ।
प्रिंस कुमार 

प्रवासी श्रमिकों को कोविड महामारी की परेशानी में सहायता हेतु जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक के द्वारा समाहरणालय पूर्वी चंपारण (मोतिहारी) के आपदा कंट्रोल रूम में जिला प्रवासी श्रमिक नियंत्रण कक्ष की स्थापना कर तीन पालियों में पदाधिकारियों एवम् कर्मियों की प्रतिनियक्ति की गई है । 
जिला प्रवासी श्रमिक नियंत्रण कक्ष का हेल्पलाइन नंबर - 06252- 242418 जारी किया गया है । उन्होंने बताया नियंत्रण कक्ष सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक कार्यरत रहेगा । प्रथम पाली 8 बजे पूर्वाहन से 12 बजे अपराह्न तक, द्वितीय पाली 12 बजे अपराह्न से 4 बजे अपराह्न तक एवम् तृतीय पाली 4 बजे अपराह्न से 8 बजे अपराह्न तक होगा। 
प्रवासी श्रमिकों को कोरोना महामारी की वजह से होनेवाली समस्याओं में सहायता उपलब्ध कराने हेतु इस नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है।

श्रम अधीक्षक राकेश रंजन को इस नियंत्रण कक्ष का नोडल पदाधिकारी तथा अपर समाहर्ता (आपदा) अनिल कुमार इस नियंत्रण कक्ष के वरीय प्रभारी पदाधिकारी होंगे।

आज नियंत्रण कक्ष में अपर समाहर्ता (आपदा) अनिल कुमार तथा श्रम अधीक्षक राकेश रंजन के द्वारा इस नियंत्रण कक्ष में प्रतिनियुक्त सभी पदाधिकरियों एवम् कर्मियों की ब्रीफिंग की गई तथा उन्हें आवश्यक दिशनिर्देश दिए गए। इस ब्रीफिंग बैठक में प्रबंधक, डी आर सी सी वैभव कुमार, सभी सहायक प्रबंधक ,डी आर सी सीसभी श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी , सभी जिला कौशल प्रबंधक, सभी एस डब्लूओ ,
डी आर सी सी आदि उपस्थित थे। 
अपर समाहर्ता के द्वारा सभी को कोविड प्रोटोकॉल एवम् सोशल डिस्टटेनसिंग का पालन करते हुए कुशलतापूर्वक दायित्वों का निर्वहन करने तथा यथासंभव प्रवासी श्रमिकों की समस्याओं का यथाशीघ्र निराकरण करने हेतु सभी आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया।
श्रम अधीक्षक के द्वारा कॉल करने वाले सभी प्रवासी श्रमिकों, अन्य व्यक्तियों की पूरी विवरणी तथा समस्याओं एवम् की गई कार्रवाई से संबंधित अनुपालन रिपोर्ट को पंजी में क्रमबद्ध रूप से संधारित करने तथा उसे प्रतिदिन एक्सेल शीट में सॉफ्टकॉपी के रूप में भी संधारित करने का निर्देश दिया गया। साथ ही कॉल करने वाले प्रवासी श्रमिकों का नियमित अवधि पर फॉलोअप रिपोर्ट भी लेते रहने का निर्देश दिया गया जब तक उनकी समस्याओं का निराकरण ना हो जाए। इसके अतिरिक्त कोषांग के पदाधिकारियों एवं कंप्यूटर ऑपरेटरों को दैनिक प्रतिवेदन ससमय तैयार करने का निर्देश दिया गया।

live