अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस पर जिलाधिकारी ने किया नर्सों को सम्मानित - mithila Hindi news

mithila Hindi news

नई सोच नई उम्मीद नया रास्ता

अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस पर जिलाधिकारी ने किया नर्सों को सम्मानित

Share This
- डीएम ने 23 नर्सों को स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए किया सम्मानित 

- नर्सों को सम्मान पत्र के साथ-साथ चंपा का वृक्ष भेंट किया गया


मोतिहारी 12 मई।

प्रिंस कुमार 

अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस पर जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक ने 23 एएनएम एवं जीएनएम नर्सों को स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया । बुधवार को 
जिला समाहरणालय स्थित राधा कृष्ण भवन में जिलाधिकारी एवं सिविल सर्जन द्वारा अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस पर जिले के सभी डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में कार्य करने वालो उत्कृष्ट नर्स को सम्मानित किया गया। उन्हें सम्मान पत्र के साथ-साथ चंपा का वृक्ष भी भेंट किया गया। मौके पर जिलाधिकारी ने कहा इस करोना महामारी में आप सभी के द्वारा सराहनीय कार्य किया जा रहा है। आप लोग इस विकट परिस्थिति में मरीजों की सेवा, देखभाल कर रहे हैं इसके लिए मैं जिला प्रशासन की ओर से धन्यवाद देता हूं । मैं आशा करता हूं कि इसी लगन के साथ आप सभी तत्परता से इस कोरोना संक्रमण में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की देखरेख करेंगे। 
उन्होंने कोविड 19 के कारण उत्पन्न परिस्थितियों से प्रभावकारी तरीके से निपटने में स्वास्थ्यकर्मियों के योगदान की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा वर्तमान परिस्थिति में स्वास्थ्यकर्मियों की सेवाभाव एवम पूर्ण समर्पण से ही हम कोविड -19 से लड़ाई को जीत सकते है। जिलाधिकारी ने नर्स की भूमिका पर कहा कि एक डॉक्टर और मरीज के बीच की सबसे महत्वपूर्ण कड़ी नर्स होती हैं। डॉक्टर केवल दवाओं को निर्धारित करता है और रोग का निदान करता है। यह नर्स ही होती है जिसके ऊपर मरीज के उपचार की वास्तविक जिम्मेदारी निर्भर करती है। नर्सिंग स्टाफ के बिना, कोई भी चिकित्सा सुविधा एक दिन के लिए भी काम नहीं कर सकती है। इसलिए, अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस का अवलोकन इन तथ्यों को देखते हुए और भी अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है। वहीं पूर्वी चम्पारण के सिविल सर्जन डॉ अखिलेश्वर प्रसाद सिंह ने कहा - प्राथमिक चिकित्सा और बुनियादी स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने में नर्स बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। वे दुनिया भर में किसी भी स्वास्थ्य प्रणाली की रीढ़ की हड्डी के समान होती हैं। उनके बिना, संपूर्ण स्वास्थ्य सेवा प्रणाली कमजोर हो जाएगी और जरूरतमंदों की सेवा करने में विफल रहेगी। वास्तव में वे डॉक्टरों और अन्य पेशेवरों के हाथ और आंखें होती हैं। इसलिए यह स्पष्ट है कि हम स्वास्थ्य सेवाओं में नर्सों के महत्व को समझते हैं और उनके मनोबल को ऊंचा रखने के लिए समय-समय पर उनके प्रयासों की सराहना करते हैं। हर देश जो अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस मनाता है, नर्सों के लिए कई तरह के स्मरणीय कार्यक्रम भी आयोजित कराता है। नर्सों को सम्मानित किया जाता है, उनकी सराहना की जाती है और उन्हें समाज में उनके योगदान के लिए मान्यता दी जाती है। यह सभी बातें, उन्हें और उन्हें उनकी क्षमता से भी आगे जा कर समाज की सेवा करने के लिए प्रोत्साहित करता है। वह समाज जो नर्सिंग को एक सम्मानजनक पेशे के रूप में पहचानता है । अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस, समाज में विशेष रूप से स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में काम करने के लिए नर्सों को उनका एहसान वापस करने का एक अवसर है। इस अवसर पर प्रशस्ति पत्र प्राप्त करने वालों में निशा कुमारी, कुमारी श्वेता, नीलू कुमारी, सीता कुमारी, प्राची कुमारी, बिंदु कुमारी, अभिषेक कुमार, अनिता सिंह, प्रियंका कुमारी, कुमारी प्रियंका, नीतू कुमारी, राजनंदनी, गीता सिन्हा, अनिता कुमारी, पूनम कुमारी सहित अन्य हुए शामिल हैं।
 इस अवसर पर वरीय उप समाहर्ता दीप शिखा, विशेष कार्य पदाधिकारी, नीतेश कुमार, जिला जन- संपर्क पदाधिकारी, भीम शर्मा एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

live

हमारे बारें में जानें

अगर आप विज्ञापन और न्यूज देना चाहते हैं तो वत्सआप करें अपना पोस्टर 8235651053

Pages