अपराध के खबरें

बिहार की यात्रा पर निकलेंगे तेजस्वी यादव, 10 दिन धुंआधार रैलियां; नीतीश के अलग होते ही RJD का बड़ा प्लान

संवाद 

लोकसभा चुनाव से पहले तेजस्वी यादव बिहार में जन विश्वास यात्रा निकालने जा रहे हैं। इस दौरान वे 32 जिलों का दौरा करेंगे और एक दिन में दो से तीन जनसभाओं को संबोधित करेंगे।
बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम एवं नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव लोकसभा चुनाव से पहले यात्रा पर निकलने वाले हैं। नीतीश कुमार के महागठबंधन से अलग होते ही आरजेडी ने जेडीयू और बीजेपी के खिलाफ बड़ा प्लान बनाया है। तेजस्वी लोगों के बीच जाकर नीतीश के खिलाफ हल्ला बोलेंगे। उनकी जन विश्वास यात्रा 20 फरवरी से शुरू होगी। इस दौरान वे विभिन्न जिलों का दौरा करेंगे। 10 दिन तक लगातार उनकी रैलियां होंगी। आरजेडी ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है।

तेजस्वी यादव की जन विश्वास यात्रा लोकसभा चुनाव की घोषणा से पहले आयोजित की जा रही है। यात्रा का कार्यक्रम 20 से 29 फरवरी के बीच रहेगा। इस दौरान राज्य के 32 जिलों में उनकी जनसभाएं होंगी। इसकी तैयारी के लिए सभी जिला प्रभारी और जिला अध्यक्ष को जिम्मेदारी सौंपी गई है। आरजेडी की ओर से शुक्रवार को इस बारे में जानकारी दी गई।

 बताया जा रहा है कि तेजस्वी यादव की जन विश्वास यात्रा की शुरुआत मुजफ्फरपुर से होगी।रोजाना वे तीन से चार जिलों का दौरा करके वहां रैलियों को संबोधित करेंगे। मुजफ्फरपुर के अलावा वे मढ़ी, शिवहर, मोतिहारी, बेतिया, गोपालगंज, सीवान, छपरा, आरा, बक्सर, रोहतास, औरंगाबाद, गया, नवादा, नालंदा, जहानाबाद, वैशाली, समस्तीपुर, दरभंगा, मधुबनी, सुपौल, अररिया, पूर्णिया, अररिया, मधेपुरा, सहरसा, खगड़िया, मुंगेर, बेगूसराय, कटिहार, भागलपुर, बांका और जमुई जिले में विभिन्न जगहों पर जाएंगे। 

नीतीश के खिलाफ जनता के बीच जाएंगे तेजस्वी
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के महागठबंधन छोड़ने के बाद राज्य में फिर से एनडीए की सरकार बन गई। तेजस्वी यादव अब नीतीश की नीतियों के खिलाफ जनता के बीच जाएंगे। लोकसभा चुनाव से पहले उनकी यात्रा अहम मानी जा रही है। उन्होंने हाल ही में कहा कि नीतीश कुमार थके हुए मुख्यमंत्री हैं। फिर भी हमने जनता के लिए उनपर विश्वास जताया और राज्य में महागठबंधन की सरकार बनाई थी। आरजेडी के दबाव देने पर ही 17 महीने की महागठबंधन सरकार के दौरान 5 लाख लोगों को नौकरी दी गई।